Central Government टेस्टिंग व वैक्सीनेशन में तेजी लाएं राज्य सरकारें, हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर भी करें मजबूत

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:

Central Government कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से इसे वैरिएंट आॅफ कंसर्न (VOC) श्रेणी में रखने और वैज्ञानिक द्वारा भी इस वैरिएंट को खतरनाक बताने के बाद भारत सहित दुनिया भर के देशों में दहशत बढ़ती जा रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव Rajesh Bhushan ने मंगलवार को देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के अधिकारियों के साथ बैठक कर ओमिक्रॉन से बचाव के छह सूत्रीय उपाय बताए। इसके तहत कंटेनमेंट जोन तैयार करने, सर्विलांस, टेस्टिंग में इजाफे, हॉटस्पॉट की निगरानी, वैक्सीनेशन के कवरेज में इजाफा और हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करना शामिल है।

Central Government नियमों का पालन जरूरी : Rajesh Bhushan

Rajesh Bhushan ने कहा कि यदि इन नियमों का पालन किया गया तभी ओमिक्रॉन के बारे में पता चल सकेगा और उससे निपटना भी आसान होगा। उन्होंने कहा उन्होंने कहा कि दुनिया भर के एक्सपर्ट्स का कहना है कि ओमिक्रॉन आरटीपीसीआर और रैपिड एंटीजन टेस्ट्स को चकमा दे सकता है, इसलिए लोगों को आइसोलेशन में रखने के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जाए।

Central Government बेंगलुरु में एक व्यक्ति में ओमिक्रॉन पॉजिटिव होने के लक्षण

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री  K Sudhakar ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका से हाल ही में बेंगलुरु आए दो लोगों में से एक का नमूना ‘डेल्टा वैरिएंट’ से अलग है। इस व्यक्ति में पाया गया वायरस Delta Variant से अलग दिखता है। उनके इस बयान से इस व्यक्ति के ओमिक्रॉन होने की आशंका और बढ़ गई है। महाराष्ट्र के ठाणे में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक शख्स को कोरोना से संक्रमित पाया गया है। पिछले 15 दिन में 1000 यात्री अफ्रीकी देशों से मुंबई आए हैं।

Central Government UN, अमेरिका व WHO भी दे चुके हैं चेतावनी

कई देशों में ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए UN स्वास्थ्य एजेंसी ने भी अपने सभी 194 सदस्य देशों से टीकाकरण में तेजी लाने, खासकर अधिक जोखिम वाले समूह के लोगों का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण करने का आग्रह किया है।

WHO ने कहा है कि तेजी से रूप बदल रहा ओमिक्रॉन कोरोना वायरस पूरी दुनिया में फैल सकता है। इससे संक्रमण बढ़ने का भी खतरा है जिसके चलते कुछ क्षेत्रों में गंभीर नतीजे हो सकते हैं। इसके अलावा अमेरिका के सबसे बड़े स्वास्थ्य अधिकारी एंथोनी फासी ने नए ओमिक्रॉन वैरिएंट के चलते और टीकाकरण में स्थिरिता की वजह से अपने देश में कोरोना महामारी की पांचवीं लहर आने की आशंका जताई है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक डॉक्टर फैसल सुल्तान ने कहा है कि इसका पाकिस्तान में आना तय है उन्होंने कहा, कि इसको आने से रोका नहीं जा सकता है।

Read More : Omicron Reaches 17 Countries अमेरिका में 16-17 साल के युवाओं को लग सकती है वैक्सीन डोज

Read More : Immunity Booster इम्यूनिटी बूस्ट करे तुलसी और काली मिर्च का काढ़ा

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest news
Related news