किसान धरने के चलते कारोबार हो रहे प्रभावित

फिरोजपुर मंडल को 54 लाख रुपए का करना पड़ा रिफंड
इंडिया न्यूज, लुधियाना / जालंधर:
गन्ने के मूल्य में वृद्धि को लेकर जालंधर के धनोवाली फाटक पर किसानों द्वारा शुक्रवार से शुरू किया गया धरना सोमवार को भी जारी रहा। किसानों द्वारा अपनी मांगों को लेकर लगाया गया यह अनिश्चितकालीन धरना दिल्ली के सिंधु बॉर्डर के धरने की तरह रूप लेता जा रहा है। किसानों ने सिंधु बॉर्डर की तरह इस धरने में भी लगातार बैठने के अपने पूरे इंतजाम कर लिए हैं । जालंधर लुधियाना नेशनल हाईवे बंद और रेलवे ट्रैक बंद होने की वजह से जहां यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं इससे पंजाब के अन्य कारोबार भी प्रभावित हो रहे हैं । रेल और बस सेवा के प्रभावित होने के कारण व्यापारियों द्वारा पंजाब में व्यापार करने के लिए आना जाना मुश्किल होगा। वहीं दूसरी ओर इधर से जो उत्पाद दूसरे राज्यों को जाएंगे, उसमें भी व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि रेलवे व्यापारिक उत्पादों को दूसरे शहरों में भेजने में अहम भूमिका निभाती है। रोजाना लगभग 40 ट्रेनें इस धरने के कारण रद हो रही हैं और कुछ ट्रेनों के डायवर्ट होने के कारण ट्रेन लेट होने की वजह से यात्रियों को ट्रेनों का इंतजार करना पड़ रहा है।
फिरोजपुर मंडल की 80 ट्रेन हुई प्रभावित
किसानों के धरने के कारण सोमवार को भी फिरोजपुर मंडल की लगभग 80 ट्रेनें प्रभावित हुई है , जिनमें से 17 डायवर्ट की गई है और लगभग 40 रद कर दी गई। अन्य ट्रेनों को रास्ते से वापस भेजना पड़ा। हालांकि रविवार को कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर रंधावा से किसानों की बैठक हुई जो बेनतीजा निकली। इसके पश्चात सोमवार को कृषि विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों की किसानों के साथ बैठक हुई, जिसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को दी जाएगी। मंगलवार को मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ किसानों की महत्वपूर्ण बैठक होगी। इस बैठक के नतीजे पर इस धरने की अगली रूपरेखा निर्भर करती है । अगर यह बैठक भी बेनतीजा निकली तो किसानों का यह आंदोलन और तेज हो जाएगा और किसानों का कहना है कि अगर हमारी मांगे ना मानी गई तो टोल प्लाजा बंद कर दिए जाएंगे और संघर्ष और तेज हो जाएगा। सरकार ने गन्ने की कीमत 325 रुपए प्रति क्विंटल तय की थी। जिस पर किसानों का कहना है कि 388 प्रति क्विंटल उनकी लागत है और कम से कम यह कीमत बढ़ाकर 400 रुपए की जानी चाहिए।
नेशनल हाइवे पर कई जगह लगे जाम : इसी के चलते नेशनल हाईवे पर कई जगह भारी जाम लग रहे हैं । जिससे आवाजाही प्रभावित हो रही है और इससे राहगीरों की परेशानियां लगातार बढ़ रही हैं। वही रेलवे द्वारा रद्द की जा रही ट्रेनों के कारण रेलवे को भी करोड़ों रुपए का नुकसान हो रहा है। लुधियाना रेलवे स्टेशन पर ही रविवार से सोमवार तक लगभग 5 लाखों रुपए यात्रियों को रिफंड किए जा चुके हैं, सूत्रों के मुताबिक फिरोजपुर मंडल को अब तक लगभग 54 लाख रुपए का रिफंड करना पड़ा है।

Latest news
Related news