गुजरात से शुरू होगा भारत जोड़ो यात्रा का दूसरा चरण

इंडिया न्यूज़, (Bharat Jodo Yatra) : कांग्रेस नेता बताया कि अगर कन्याकुमारी से कश्मीर तक राहुल गांधी के नेतृत्व में भारत जोड़ो यात्रा सही रहती है तो पार्टी गुजरात से अरुणाचल प्रदेश की तरफ आगे बढ़ेगी। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के आठवें दिन में प्रवेश करते ही राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने शुक्रवार को कोल्लम से मार्च शुरू किया।

यात्रा प्रतिदिन 25 किमी की दूरी तय करेगी

कन्याकुमारी से कश्मीर तक का 3,500 किलोमीटर का मार्च 150 दिनों में पूरा होगा और 12 राज्यों को कवर करेगा। केरल से यात्रा अगले 18 दिनों के लिए राज्य से गुजरेगी, 30 सितंबर को कर्नाटक पहुंचेगी। यह उत्तर की ओर बढ़ने से पहले 21 दिनों के लिए कर्नाटक में होगी। पदयात्रा (मार्च) प्रतिदिन 25 किमी की दूरी तय करेगी। राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा था कि भारत जोड़ो यात्रा की भावना भारतीयों को धर्म समुदाय के बावजूद एक साथ लाना है और उन्हें याद दिलाना है कि यह एक देश है और यह सफल होगा यदि हम एक साथ खड़े हों और एक-दूसरे के प्रति सम्मानजनक हों।

कदम दर कदम हम अपने लक्ष्य तक पहुंचेंगे : कांग्रेस

इस बीच कांग्रेस द्वारा ट्विटर पर आरएसएस शॉर्ट्स की जलती हुई जोड़ी की तस्वीर पोस्ट करने के बाद राजनीतिक विवाद छिड़ गया। भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने कहा कि यह तस्वीर दर्शाती है कि कांग्रेस ने अतीत में जो आग लगाई है, उसने देश में उसके राजनीतिक भाग्य को जला दिया है। इससे पहले सोमवार को कांग्रेस ने जलती हुई ‘खाखी’ शॉर्ट्स की एक तस्वीर ट्वीट की और लिखा, “देश को नफरत की बेड़ियों से मुक्त करने और भाजपा-आरएसएस द्वारा किए गए नुकसान की भरपाई करने के लिए कदम दर कदम हम अपने लक्ष्य तक पहुंचेंगे।

यात्रा में पदयात्रा, रैलियां और जनसभाएं शामिल

कांग्रेस के अनुसार, भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र की विभाजनकारी राजनीति का मुकाबला करने और देश के लोगों को आर्थिक असमानताओं, सामाजिक ध्रुवीकरण और राजनीतिक केंद्रीकरण के खतरों के प्रति जागरूक करने के लिए ‘भारत जोड़ो यात्रा’ आयोजित की जा रही है।

यात्रा में पदयात्रा रैलियां और जनसभाएं शामिल हैं, जिसमें सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। गौरतलब है कि राहुल गांधी के साथ पार्टी के सभी सांसद, नेता और कार्यकर्ता एक साथ रह रहे हैं। कुछ कंटेनरों में स्लीपिंग बेड, शौचालय और एसी भी लगाए गए हैं।

उमस को ध्यान में रखते हुए की गई व्यवस्था

यात्रा के दौरान कई क्षेत्रों में तापमान और वातावरण में अंतर होगा। स्थान परिवर्तन के साथ भीषण गर्मी और उमस को ध्यान में रखते हुए व्यवस्था की गई है। इस साल की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था और यात्रा को आगामी चुनावी लड़ाई के लिए पार्टी के रैंक और फाइल को रैली करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है।

Latest news
Related news