दिल्ली में यमुना नदी के किनारों को स्वच्छ और उपयोग के योग्य बनाने के लिए डीडीए ने शुरू की असिता परियोजना

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली, (Banks Of Yamuna River In Delhi) : दिल्ली में यमुना नदी के किनारों को स्वच्छ और उपयोग के योग्य बनाने के लिए डीडीए ने असिता परियोजना शुरू की है। इस परियोजना के तहत पूर्वी दिल्ली में यमुना के किनारों को बेहतर उपयोग के लिए विकसित किया जा रहा है। डीडीए के अधिकारियों ने बताया कि जल्द ही दक्षिणी और बाहरी दिल्ली के इलाकों में भी असिता परियोजना को बढ़ावा देने की तैयारी है।

दिल्ली में जहां जहां डीडीए की जमीन है उसे बेहतर रूप में विकसित किए जाने की है योजना

इस मामले में अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में यमुना के किनारे जहां-जहां डीडीए की जमीन है उसे बेहतर रूप में विकसित किए जाने की योजना बनाई गई है। गौरतलब है कि बीते दिनों उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने यमुना नदी के बाढ़ के मैदानों के बेहतर बनाकर पूर्वी दिल्ली के लोगों को सांस लेने योग्य सार्वजनिक हरी जगह मुहैया कराने के लिए लक्ष्मी नगर के पास असिता पूर्व परियोजना का उद्घाटन किया था। यह परियोजना दिल्ली विकास प्राधिकरण के यमुना के बाढ़ के मैदानों को बेहतर कायाकल्प करने का एक हिस्सा है।

डीडीए ने कायाकल्प के लिए कई उठाए है कदम

अधिकारियों ने बताया कि डीडीए ने हाल ही में विभिन्न जैव-विविधता पार्कों, खोजा वाला बाग में नर्सरी, यमुना बैंक पर बांसरा और अनंग ताल बावली के कायाकल्प के रूप में कई कदम उठाए हैं। डीडीए अधिकारियों ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के हिस्से के रूप में प्रमुख सड़कों के साथ लगभग 100 से 150 मीटर क्षेत्र को ग्रीनवे के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके अलावा, यमुना नदी के किनारे के लगभग 300 मीटर क्षेत्र को एक पारिस्थितिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने की योजना है। जिससे लोगों को नदी तक चलने के लिए नियमित अंतराल पर कच्चे ट्रैक आदि मिल सकें जो उनके लिए स्वास्थ्य वर्धक हो।

ये भी पढ़ें : क्रूड आयल निर्यातकों को राहत, Windfall Tax में 2800 रुपए प्रति टन की कटौती

ये भी पढ़ें : अमेरिकी फेडरल रिजर्व के फैसले से तय होगी शेयर बाजार की चाल

ये भी पढ़ें : 22 सितम्बर से बंद हो जाएगा ये बैंक, फटाफट निकाल लें अपनी रकम

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

 

Latest news
Related news