केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सुरक्षा में 13 दिन में दूसरी बार चूक

  • हैदराबाद के सिकंदराबाद इलाके में टीआरएस नेता पर काफिले के आगे कार लगाने का आरोप 

इंडिया न्यूज़, हैदराबाद, (Amit Shah Security) :केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सुरक्षा में एक फिर चूक हुई है। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद के सिकंदराबाद इलाके में इस बार यह घटना हुई। आज केंद्रीय गृह मंत्री हैदराबाद मुक्ति दिवस में भाग लेने के लिए तेलंगाना के दौरे पर हैं और इस बीच उनके काफिले के आगे टीआरएस नेता गोसुला श्रीनिवास ने अपनी कार लगा दी। गृह मंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने हालांकि कार को रास्ते से तुरंत हटवा दिया।

ये भी पढ़ें : प्रधानमंत्री का आज जन्मदिन, बधाई देने वालों का तांता, मोदी 4 कार्यक्रमों को करेंगे संबोधित

जानिए क्या कहते हैं कार के मालिक गोसुला श्रीनिवास

श्रीनिवास ने कहा कि उनकी कार अचानक गृह मंत्री के काफिले के आगे रुक गई थी और जब तक वह कुछ समझ पाते, गृह मंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने उनकी कार में तोड़फोड़ कर दी। उन्होंने कहा, मैं पुलिस अधिकारियों से मिलूंगा और मामले में उनसे कार्रवाई करने के लिए कहूंगा। श्रीनिवास ने कहा, मैं कार रुकने के बाद टेंशन में था, पर अधिकारियों ने कार का पीछे का कांच तोड़ दिया।

ये भी पढ़ें : मुंबई हमले के गुनहगार साजिद मीर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर फिर चीन का अड़ंगा

मुंबई दौरे के दौरान इसी महीने हुई थी वारदात

गौरतलब है कि इससे पहले इसी महीने चार और पांच सितंबर को महाराष्ट्र दौरे के दौरान भी शाह की सुरक्षा में चूक हुई थी। इस तरह 13 दिन के भीतर उनकी सुरक्षा में चूक की यह दूसरी वारदात है। बता दें कि शाह के मुंबई दौरे के दौरान एक संदिग्ध कई घंटों तक उनके इर्द-गिर्द घूमता रहा। अधिकारियों को जब अंदेशा हुआ तो उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने उसे फिर गिरफ्तार किया।

ये भी पढ़ें : मध्य प्रदेश के जबलपुर में कल होगा जस्टिस जेएस वर्मा स्मृति व्याख्यान

सिकंदराबाद के आर्मी मैदान में रैली को किया संबोधित

तेलंगाना दौरे के दौरान आज शाह ने पहले सिकंदराबाद के आर्मी मैदान में रैली को संबोधित करते हुए टीआरएस पर निशाना साधा। गृह मंत्री ने कहा, भारत को आजादी 1947 में मिल गई थी, लेकिन हैदराबाद पर आज भी निजामों का राज है। हैदराबाद मुक्ति दिवस कार्यक्रम में अमित शाह के साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे भी मौजूद थे।

हमेशा साथ रहते हैं 24 से 30 कमांडो

अमित शाह 2019 में गृह मंत्री बने और उसके बाद उनकी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई थी। उन्हें जेड+ सिक्योरिटी व ब्रीफकेस बैलिस्टिक शील्ड का कवर दिया गया था। यह एक पोर्टेबल बुलेट प्रूफ शील्ड अथवा पोर्टेबल फोल्ड आउट बैलिस्टिक शील्ड होती है, जिसे हमले के दौरान खोला जा सकता है। जेड+ सिक्योरिटी के तहत अमित शाह के साथ हमेशा 24 से 30 कमांडो रहते हैं।

ये भी पढ़ें : यूक्रेन युद्ध पर मोदी ने पुतिन को कही यह बात, अमेरिकी मीडिया ने की तारीफ

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

Latest news
Related news