सितंबर में देश में औसत से अधिक बारिश का अनुमान 

इंडिया न्यूज, दिल्ली
भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) की भविष्यवाणी से साफ है कि देश में इस साल मानसून पूरी तरह मेहरबान है। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मौसम के महत्वपूर्ण मानकों के अनुसार इस साल सितंबर में सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना है। मध्य भारत के कई हिस्सों में इस महीने सामान्य से अधिक बारिश होने का अनुमान है। अभी मानसून की कमी नौ प्रतिशत रह गई है और सितंबर में अच्छी वर्षा होने से इसमें और कमी आ सकती है। महापात्र ने कहा कि सितंबर में औसत से अधिक बारिश का अनुमान उन लाखों किसानों  के लिए राहत की बात होगी, जिनके माथे पर जुलाई और अगस्त में कम बारिश होने के बारण चिंता की लकीरें खिंची हैं। गौरतलब है कि जून में औसत से 10 फीसदी अधिक मानसून की बारिश हुई थी। वहीं अगस्त में सामान्य से 24 प्रतिशत कम बारिश दर्ज की गई थी। सितंबर में मध्य भारत के कई हिस्सों में सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना आईएमडी 96 फीसदी से 104 फीसदी के बीच हुई बारिश को औसत या सामान्य मानसून के रूप में परिभाषित करता है और जिसकी शुरुआत जून में मानी जाती है जो चार महीने तक रहता है।
उम्मीद से 15 दिन पहले आया था मानसून 
बता दें कि इस बार मानूसन तीन जून को केरल के दक्षिणी तट से टकराने के बाद उम्मीद से लगभग 15 दिन पहले महीने की पहली छमाही के अंत तक भारत के दो-तिहाई हिस्से में फैल गया था और फिर जून के तीसरे सप्ताह में यह कम हो गया। मानसून के कुछ समय तक बेहद सक्रिय होने के बावजूद जुलाई और अगस्त में मानसून की बारिश कमजोर बनी रही।
जुलाई-अगस्त में अनिश्चित हुआ मानसून
महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि चूंकि जुलाई और अगस्त में मानसून अनिश्चित हो गया था, जून में चार महीने की बारिश का मौसम शुरू होने के बाद से भारत की कुल बारिश औसत से 9% कम थी। जून में मौसम विभाग ने कहा था कि भारत में इस साल औसत मानसून बारिश होने की संभावना है, जिससे कोरोना संक्रमण की विनाशकारी दूसरी लहर के बीच बड़े कृषि उत्पादन की उम्मीदें बढ़ गई थीं।
बारिश के पानी में करंट आने से पांच लोगों की मौत
गाजियाबाद। यूपी के गाजियाबाद जिले में बुधवार को करंट लगने से पांच लोगों की मौत हो गई है। इनमें दो बच्चों और महिलाएं भी शामिल हैं। एक की हालत गंभीर बनी हुई है। जानकारी के अनुसार, जिले के सिहानी गेट इलाके में राकेश मार्ग पर गली नंबर-3 के सामने छह लोग करंट की चपेट में आ गए। जिला अस्पताल ले जाने पर दो बच्चों और महिला को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि तीन की हालत गंभीर होने के कारण उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान एक युवक और बच्ची ने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि बारिश के बाद एक दुकान के बल्ब का होल्डर लटका हुआ था जिससे दुकान के टिन शेड में करंट उतर आया।
Latest news
Related news