Kerala Bandh : छापों के विरोध में केरल में पीएफआई का प्रदर्शन, तोडफोड़, बम फेंके

इंडिया न्यूज, तिरुवनंतपुरम, (PFI Protest Raids For NIA And ED) : पॉपुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के संगठन पर छापों के विरोध में केरल में बम फेंका व वाहनों में भी तोड़फोड़ की है। एनआईए व ईडी ने टेरर फंडिंग के आरोप में कल देश के 13 राज्यों में पीएफआई और इससे जुड़े एसडीपीआई पर छापेमारी की थी। इस दौरान संगठन के नेता व सदस्यों सहित 106 लोगों की गिरफ्तारी की गई है इन लोगों पर युवाओं को अशांत क्षेत्रों में भेजना, आतंकी फंडिंग, देश के विभिन्न हिस्सों में अशांति फैलाने और हिंसा भड़काने जैसे आरोप हैं।

ये भी पढ़े : कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए मैं लडूंगा चुनाव : अशोक गहलोत

पीएफआई का आज केरल बंद, राज्य से जमकर हिंसा

छापेमारी के विरोध में पीएफआई ने आज ‘केरल बंद’ बुलाया है। इस दौरान राज्य से जमकर हिंसा की खबरें सामने आ रही हैं। राजधानी तिरुवनंतपुरम में पीएफआई के समर्थकों ने एक आटो-रिक्शा में तोड़फोड़ की है। इसी के साथ एक कार को क्षतिग्रस्त करने का उन पर आरोप है। कोयंबटूर में कल ज्वलनशील पदार्थ से भरी बोतल बीजेपी के कार्यालय पर फेंकी गई। एक पार्टी नेता ने यह जानकारी दी।

बंद का आह्वान सुबह छह से शाम छह बजे तक

तिरुवनंतपुरम के अलावा पीएफआई के समर्थक राज्य के वायनाड, अलाप्पुझा, कोल्लम व कोझीकोड में भी प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कई जगह सरकारी बसों पर पथराव किया है। तिरुवनंतपुरम सहित कई शहरों में हिंसा व तोड़फोड़ की गई है। झड़पों में कोल्लम में दो पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। बंद का आह्वान सुबह छह से शाम छह बजे तक किया गया है। प्रदर्शनकारियों ने वायनाड में यातायात रोकने के लिए टायरों में आग लगा दी।

इस जगह अखबार ले जा रहे वाहन पर फेंका पेट्रोल बम

स्थानीय मीडिया के अनुसार आज सुबह कन्नूर के नारायणपारा में अखबार के एक वाहन पर पेट्रोल बम से हमला किया। वाहन अखबार को वितरण के लिए ले जा रहा था। वहीं अलाप्पुझा में एक टैंकर लॉरी व कुछ अन्य वाहनों के अलावा केएसआरटीसी की बस को पीएफआई के समर्थकों ने निशाना बनाया है। कन्नूर और कोझीकोड में पीएफआई वर्करों के पथराव में लड़की व एक आॅटो-रिक्शा चालक को हल्की चोटें आईं हैं।

बंद, नियंत्रित शासन के फासीवादी उपायों का विरोध : पीएफआई

पीएफआई के राज्य सचिव ए अबूबक ने केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई को लेकर एक बयान जारी कर कहा, हमार टॉप लीडर्स की गिरफ्तारी नियंत्रित दमनकारी शासन के फैलाए आतंक का हिस्सा है। उसने कहा, हमारा बंद नियंत्रित शासन के फासीवादी उपायों का विरोध है। लोकतांत्रिक ताकतों से हम सभी को समर्थन की उम्मीद है। पीएफआई के दफ्तरों से जब्त कुछ जनसंपर्क कागजात को गुप्त दस्तावेज करार दिया गया है, जो पूरी तरह गलत है।

केरल के 10 जिलों में नेता व उनके दफ्तरों और घरों में ली तलाशी

एनआईए व ईडी की संयुक्त टीम ने कल केरल के 10 जिलों में पीएफआई नेता व उनके दफ्तरों और घरों पर दबिश दी थी। इस दौरान कई नेताओं को गिरफ्तार कर उनके पास से दस्तावेज जब्त किए गए। कई जगहों कार्यकर्ताओं ने कल भी छापेमारी के विरोध में प्रदर्शन किया था।

106 गिरफ्तारियों में केरल में सबसे ज्यादा 22

हालांकि सीआरपीएफ के जवानों ने उनकी कोशिश को विफल कर दिया। 106 गिरफ्तारियों में केरल में सबसे ज्यादा 22 गिरफ्तारियां हुई हैं। गिरफ्तार किए गए सदस्य व नेताओं में पीएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमए सलाम, र प्रदेश अध्यक्ष सीपी मोहम्मद बशीर, विचारक पी कोया व राष्ट्रीय सचिव नसरुद्दीन एलमारोम शामिल हैं। इन्हें ट्रांजिट वारंट हासिल करने के बाद दिल्ली ले जाया जाएगा।

ये भी पढ़े : बारिश से अभी नहीं मिलेगी राहत, 17 राज्यों में अलर्ट

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

Latest news
Related news