विधानसभा में नमाज के लिए कमरा अलॉट करने का विरोध

विधानसभा घेराव के लिए पहुंचे हजारों भाजपा कार्यकर्ता
इंडिया न्यूज, रांची: 
झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में मुस्लिम सदस्यों के लिए नमाज पढ़ने के लिए अलग कमरा आवंटित करने के फैसले से बवाल मचा हुआ है। भाजपा नेता इस मामले को उठाते हुए विधानसभा से सड़क तक ले आए हैं। भाजपा नेताओं के आह्वान पर बुधवार को प्रदेश से हजारों की संख्या में कार्यकर्ता विधानसभा के घेराव के लिए राजधानी पहुंच गए। इस दौरान जमकर नारेबाजी की गई तथा इस फैसले को वापस लेने की मांग की गई। वहीं विरोध जताते हुए राज्य के पूर्व सीएम रघुवर दास पार्टी के अन्य नेताओं के साथ विधानसभा के समक्ष धरने पर बैठे गए। इस अवसर पर पत्रकारों को जानकारी देते हुए रघुवर दास ने कहा कि विधानसभा खुद लोकतंत्र का मंदिर है यहां न नमाज पढ़ी जाए और न ही हनुमान चालीसा पढ़ा जाए।

दूसरे राज्यों में भी उठी मांग

झारखंड की विधानसभा में नमाज पढ़ने के लिए अलग कमरा अलॉट होने को लेकर जहां राज्य में विधानसभा के अंदर व बाहर विवाद जारी है वहीं अब यह मामला बिहार और उत्तरप्रदेश तक पहुंच गया है वहां पर भी ऐसी ही व्यवस्था करने की मांग नेताओं द्वारा की जाने लगी है। उत्तर प्रदेश के कानपुर के विधायक इरफान सोलंकी द्वारा मांग की गई है कि यूपी की विधानसभा में भी इसी तरह की व्यवस्था होनी चाहिए। इसके साथ ही सपा विधायक ने कहा कि सत्र के दौरान नमाज पढ़ने में दिक्कत होती है, ऐसे में आस्था को ध्यान में रखते हुए ये सही फैसला होगा।
हनुमान चालीसा पाठ के लिए मिले कमरा
यूपी में यदि नमाज के लिए कमरा देने की बात की जा रही है तो बिहार में भारतीय जनता पार्टी के विधायक हरिभूषण ठाकुर ने मांग की है कि बिहार विधानसभा में हनुमान चालीसा का पाठ करने के लिए अलग कमरा बनाया जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मंगलवार की छुट्टी भी घोषित कर दी जाए। बीजेपी विधायक ने कहा कि संविधान सभी को बराबरी का हक देता है, अगर नमाज के लिए कमरा मिल रहा है तो हनुमान चालीसा के लिए क्यों नहीं।

ये भी पढ़ें :

Siddharth Shukla के अलावा ये बिग बॉस कंटेस्टेंट्स भी कह चुके हैं दुनिया को अलविदा

New variant of Covid : जानिए कितना खतरनाक है कोविड का न्यू वेरिएंट

Latest news
Related news