राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने अलापा कश्मीर राग कहा, घाटी के लोगों का करेंगे समर्थन

इंडिया न्यूज, इस्लामाबाद:
पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी (President of Pakistan Arif Alvi) ने कहा कि उनका देश अपने पड़ोस के घटनाक्रम से पूरी तरह अवगत है। पाकिस्तान क्षेत्र में शांति भंग करने की किसी भी साजिश को नाकाम करने के लिए तैयार है। अल्वी ने रक्षा दिवस के मौके पर देशवासियों के नाम अपने संदेश में कश्मीर के लोगों को समर्थन जारी रखने का संकल्प लिया। उन्होंने कहा कि कश्मीर मुद्दे के समाधान के बिना भारत के साथ शांति संभव नहीं है। अल्वी ने कहा, कश्मीर सहित सभी समस्याओं (भारत के साथ) का समाधान खोजने का समय आ गया है, जिससे क्षेत्र में शांति और समृद्धि सुनिश्चित होगी। रेडियो पाकिस्तान के अनुसार दिवस की शुरूआत इस्लामाबाद में 31 तोपों की सलामी और प्रांतीय राजधानियों में 21 तोपों की सलामी के साथ हुई। सशस्त्र बलों को श्रद्धांजलि देने के लिए इस्लामाबाद स्थित नौसेना मुख्यालय में चेंज आफ गार्ड समारोह आयोजित किया गया। अल्वी ने कहा कि पाकिस्तान अपने पड़ोस के घटनाक्रम से पूरी तरह अवगत और शांति कायम रखने के लिए प्रतिबद्ध है तथा क्षेत्र में शांति को बाधित करने की किसी भी साजिश को विफल करने के लिए तैयार है। पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान अपने सैद्धांतिक रुख से कभी पीछे नहीं हटेगा। प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी जवानों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के तहत कश्मीरियों को उनके आत्मनिर्णय का अधिकार देना होगा। भारत जोर देकर कहता रहा है कि जम्मू और कश्मीर हमेशा देश का अभिन्न अंग था, है और रहेगा। भारत ने पाकिस्तान से यह भी कहा है कि जम्मू-कश्मीर से जुड़ा मुद्दा उसका आंतरिक मामला है और वह अपनी समस्याओं को खुद सुलझाने में सक्षम है। गौरतलब है कि इमरान खान ने सोमवार को कहा कि सरकार कट्टरपंथी भारत का असली चेहरा उजागर करती रहेगी। उन्होंने कहा, पाकिस्तानी कूटनीति की वजह से दुनिया को कश्मीर में होने वाले उत्पीड़न की जानकारी मिली है। हालांकि, इमरान ने अपने यहां अल्पसंख्यकों पर होने वाले उत्पीड़न पर चुप्पी साधे रखी। वहीं, इमरान खान ने भारत को गीदड़भभकी देते हुए कहा कि पाकिस्तान की शांति की इच्छा को उसकी कमजोरी नहीं समझा जाए।

Latest news
Related news