अफगानिस्तान को मिली नई सरकार, मुल्ला हसन अखुंद होगा प्रधानमंत्री

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
तालिबान ने अफगानिस्तान में अपनी नई सरकार (Taliban New Government) की घोषणा कर दी है। संगठन के मुताबिक नई सरकार में मोहम्मद हसन अखुंद (Mohammad Hassan Akhund) प्रधानमंत्री होगा। सरकार के अन्य पदाधिकारियों की घोषणा भी तालिबान प्रवक्ता जैबीहुल्लाह मुजाहिद ने की है। जबीहुल्लाह मुजाहिद ने बताया, “ये अस्थाई व्यवस्था सरकार का कामकाज चलाने के लिए की जा रही है।” उन्होंने बताया, “अभी शूरा परिषद (मंत्रिमंडल) कामकाज देखेगी और फिर आगे तय किया जाएगा कि लोग इस सरकार में कैसे भागेदारी करते हैं।” तालिबान ने अफगानिस्तान में समावेशी सरकार के गठन का दावा किया था। तालिबान ने सोमवार को पंजशीर पर कब्जे का एलान किया। नेशनल रसिस्टेंस फ्रंट ने तालिबान के कब्जे के दावे को खारिज किया और जंग जारी रखने का एलान किया। एक दिन बाद ही तालिबान ने सरकार को लेकर एलान कर दिया। तालिबान के प्रवक्ता मुजाहिद ने सोमवार को भी प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। उनसे तब भी सरकार गठन को लेकर सवाल किया गया था लेकिन उन्होंने तब इस पर साफ जवाब नहीं दिया था।
नई सरकार के स्वरूप की जानकारी देते हुए तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने बताया, मुल्ला हसन अखुंद (Mullah Hassan Akhund) प्रधानमंत्री होगा तो मुल्ला बरादर (Mullah Abdul Ghani Baradar) उप प्रधानमंत्री होगा। अमीर मुक्ताकी (Ameer Muktaaki) विदेश मंत्री तो सिराजुद्दीन हक्कानी (Sirajuddeen Hakkani) गृह मंत्री होगा। साथ ही मुल्ला याकूब (Mullah Yakub) रक्षा मंत्री होगा। बाकी मंत्रियों के नाम का ऐलान जल्द ही किया जाएगा।

हिबतुल्ला अखुंजादा की पसंद है मोहम्मद हसन अखुंद
हिबतुल्ला अखुंजादा ने खुद मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को रईस-ए-जम्हूर, रईस-उल-वजारा या अफगानिस्तान के नए प्रमुख के रूप में प्रस्तावित किया है। कई तालिबानी नेताओं से बात करने के दौरान सभी ने मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद के नाम पर सहमति बनाए जाने का दावा किया है।

रहबारी शूरा का हेड है मोहम्मद हसन अखुंद
मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद मौजूदा समय में तालिबान के शक्तिशाली फैसले लेने वाली बॉडी रहबारी शूरा या नेतृत्व परिषद का प्रमुख है। वह तालिबान की जन्मस्थली कंधार से ताल्लुक रखता है। अखुंद तालिबान मूवमेंट के संस्थापकों में से एक है।

दो डिप्टी पीएम होंगे
तालिबान की नई सरकार में दो उप प्रधानमंत्री होंगे। मुल्ला बरादर के अलावा मुल्ला अब्दुल सलाम हंफू (Mullah Abdul Salam Hanfu) भी उप प्रधानमंत्री होगा। खैराल्ह खैरख्वाह (Khairullah Khairkhwa) सूचना मंत्री, अब्दुल हकीम (Abdul Hakim) न्याय मंत्री, शेर अब्बास स्टानिकजई (Sher Abbas Stanikzai) उप विदेश मंत्री, जबीउल्लाह मुजाहिद उप सूचना मंत्री, अमीर खान मुत्ताकी विदेश मंत्री, वित्त मंत्री मुल्ला हिदायत बद्री होगा।

दरअसल तालिबान ने बीते 15 अगस्त को काबुल पर कब्जा किया था। इसके बाद से सरकार को लेकर विचार विमर्श जारी था। संगठन के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा था कि हम सरकार में सभी का सहयोग चाहते हैं, इसीलिए देर हो रही है। बीते कुछ दिनों से माना जा रहा था अब संगठन कभी भी नई सरकार की घोषणा कर सकता है।

Latest news
Related news