कोरोना के नियम तोड़ने पर 5 साल जेल

इंडिया न्यूज, हनाई:

वियतनाम में एक व्यक्ति को इसलिए पांच साल की सजा सुनाई गई क्योंकि उस पर आरोप है कि वह कोरोना नियमों को तोड़ता था और दूसरे लोगों में वायरस फैलाता था, जबकि वह खुद कोरोना पॉजिटिव था। मीडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वहां की सरकारी मीडिया ने कहा कि ले वान ट्राई (28) नाम के इस शख्स ने कोरोना नियमों को तोड़ा और दूसरों में इस खतरनाक वायरस को फैलाया। पुलिस ने सोमवार को आरोपी को पकड़ लिया और पांच साल के लिए जेल में डाल दिया। प्रांतीय पीपुल्स कोर्ट ने यह फैसला सुनाया। शख्स ने तमाम दलीलों दीं लेकिन कोर्ट ने उसकी एक नहीं मानी और उसे पांच साल जेल में डालने की सजा सुनाई। रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी ने अपने घर से बाहर तब खुलेआम घूमना शुरू किया जब उसका शहर जुलाई में कोरोनो वायरस के लिए हॉटस्पॉट घोषित किया गया था। इतना ही नहीं इसके बाद उसने एक अन्य कोरोना हॉटस्पॉट शहर ची मिन्ह से अपने गृह शहर की यात्रा भी की जबकि उस समय यात्रा करने पर पूरी तरह रोक लगी हुई थी। यह भी आरोप है कि उसी समय यात्रा करने के बाद वान ट्राई ने अन्य लोगों में भी कोरोना फैलाया और इस आरोप के बाद ही उस पर मुकदमा दर्ज किया गया था। जांच मे यह आरोप सही साबित हुआ। वान ट्राई पर एक दक्षिणी प्रांत में भी कई गंभीर आरोप लगे। बताया गया कि उस समय आइसोलेशन को तोड़कर यह शख्स भाग गया था। आखिरकार वह सात जुलाई को कोरोना पॉजिटिव निकला और फिर उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था। अदालत में यह भी बताया गया कि आरोपी के द्वारा किए गए कोरोना नियमों के उल्लंघन के कारण तमाम लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए और सात अगस्त को एक व्यक्ति की मृत्यु भी हो गई। इसका जिम्मेदार भी इसी शख्स को ठहराया गया था और वहां भी उस पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

Latest news
Related news