चीन की धमकी के बाद 13 अमेरीकी विमान रवाना, ताइवान में पेलोसी को देंगे सुरक्षा

इंडिया न्यूज, New Delhi News। Nancy Pelosi visits Taiwan : जैसा कि आप जानते ही हैं कि अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी आज रात ताइवान जाएंगी। लेकिन यह बात चीन को हजम नहीं हो रही है। चीन ने इसको लेकर नाराजगी जताई है और अमेरिका को धमकाया भी है। वहीं जानकारी मिली है कि चीन की धमकी के बाद अमेरिका भी अलर्ट हो गया है।

8 लड़ाकू विमान भी शामिल

वहीं बताया जा रहा है कि 13 अमेरिकी वायु सेना के विमान पेलोसी को ताइवान में सुरक्षा देंगे। इस सुरक्षा बेड़े में 8 लड़ाकू विमान भी शामिल किए गए हैं। ताइवान को लेकर अमेरिका की दिलचस्पी के बाद चीन बौखलाया हुआ है। चीन ने अमेरिका को परिणाम भुगतने तक की धमकी दी है।

जापान में सैन्य ठिकानों से रवाना किए गए विमान

वहीं जापानी मीडिया रिपोर्टों से मिली जानकारी मुताबिक कम से कम 13 अमेरिकी वायु सेना के विमान जापान में सैन्य ठिकानों से रवाना हुए हैं। ये विमान अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी को ताइवान दौरे के दौरान सुरक्षा देंगे।

नैन्सी के ताइवान दौरे को लेकर अमेरिका और चीन के बीच तनाव के बीच यह खबर आई है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 8 अमेरिकी लड़ाकू जेट और 5 टैंकर जापान से रवाना हुए हैं। बताया जा रहा है कि ये विमान पेलोसी के ताइपे जाने वाले एस्कॉर्ट हैं।

ताइवान ने भी कड़ी की सुरक्षा

ताइवानी स्थानीय मीडिया के मुताबिक मंगलवार रात तक अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी ताइवान पहुंच जाएंगी। ताइवान में उनकी सुरक्षा के लिए कड़े इंतेजाम किए गए हैं। ताइवान में जिस होटल में वो ठहरेंगी वहां भी सुरक्षा कड़ी की गई है।

ताइवान सीमा के पास चीनी सेना ने ड्रिल की शुरू

वहीं दूसरी ओर सूचना मिली है कि ताइवान के पास चीनी सेना की हलचल तेज हो गई है। खबर है कि ताइवान सीमा के पास चीनी सेना ड्रिल कर रही है। आपको बता दें कि पिछले 25 सालों में नैन्सी पेलोसी पहली यूएस स्पीकर हैं जो कि ताइवन का दौरा करेंगी।

चीन ने अमेरिका को दी परिणाम भुगतने की धमकी

वहीं माना जा रहा है कि अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे को लेकर चीन हमला कर सकता है। चीन इसे चुनौती समझ रहा है। चीन के कई इलाकों में अमेरिका के खिलाफ प्रदर्शन भी हो रहा है। चीन ने अमेरिका को परिणाम भुगतने की धमकी दी है।

पेलोसी के प्रस्तावित एशिया दौरे में शामिल नहीं था ताइवान

वहीं अगर बात करें अमेरिका की तो अमेरिका ने भी चीन की इस धमकी के बाद अपने फैसले को नहीं बदला है। अपने फैसले को बरकरार रखते हुए पेलोसी के दौरे को नहीं टाला है। बता दें कि पेलोसी के प्रस्तावित एशिया दौरे में ताइवान शामिल नहीं था। उन्होंने दौरे के बीच ताइवान जाने का फैसला लिया है।

ये भी पढ़े : लेफ्टिनेंट जनरल सहित 6 पाकिस्तानी सैन्य कर्मियों की मौत, बलोचिस्तान में मिला हेलिकॉप्टर का मलबा

ये भी पढ़े : जानिए कैसे फैलता है मंकीपॉक्स और इससे बचने के उपाय?

ये भी पढ़े : जानिए क्यों तेजी से घूमने लगी है धरती, पृथ्वीवासियों पर होगा क्या असर?

ये भी पढ़े : 2023 तक केंद्रीय सशस्त्र बलों में होगी 84 हजार से अधिक भर्तियां, निर्देश जारी

ये भी पढ़े : दिल्ली में मिला मंकीपॉक्स का तीसरा केस, पहला ठीक होकर लौटा, देश में अब कुल 8 मामले

हमे Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news