सलमान रुश्दी पर हमले की वाइट हाउस ने की निंदा

प्रसिद्ध लेखक सलमान रुश्दी भारतीय मूल के है और अभी ब्रिटेन के नागरिक है.

इंडिया न्यूज़ (दिल्ली): व्हाइट हाउस ने शनिवार को सलमान रुश्दी पर हुए हमले को “भयावह” करार दिया और कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने प्रसिद्ध लेखक के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है.

अपने बयान में अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुल्लिवन ने कहा की “आज देश और दुनिया ने लेखक सलमान रुश्दी के खिलाफ एक निंदनीय हमला देखा। हिंसा का यह कृत्य भयावह है। बाइडेन-हैरिस प्रशासन में हम सभी उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहे हैं.

सुल्लिवन ने आगे कहा की “हम अपने जिम्मेदार नागरिकों का धन्यवाद करते है जिन्होंने हमले के बाद सबसे पहले सलमान रुश्दी की मदद की, वह पुलिस अधिकारी भी बधाई के पात्र है जिन्होंने त्वरित कारेवाई की जो अभी भी चल रही है”

अपनी स्वतंत्र अभिव्यक्ति के लिए प्रसिद्ध सलमान रुश्दी को उनकी पुस्तक ‘द सैटेनिक वर्सेज’ के कारण जान से मारने की धमकियां मिली थी, यह बुक साल 1988 में आई थी। 30 साल के फतवे के बाद, रुश्दी पर शुक्रवार की सुबह पश्चिमी न्यूयॉर्क के चौटाउक्वा में व्याख्यान देने के दौरान हमला किया गया। उन्हें कम से कम एक बार गर्दन में और एक बार पेट में चाक़ू मारा गया। रुश्दी भारतीय मूल के है और अभी ब्रिटेन के नागरिक है.

Latest news
Related news