शशि थरूर ने की सोनिया गांधी से मुलाकात, अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए शुरू हुए अभियान का किया समर्थन

Congress President Election: Shashi Tharoor Met With Congress President Sonia Gandhi

Shashi Tharoor: कांग्रेस पार्टी में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए गहमागहमी तेज हो गई है। राहुल गांधी को  तीन राज्यों ने  दोबारा पार्टी का अध्यक्ष बनाने के प्रस्ताव पर अपना समर्थन दिया है। वहीं कांग्रेस में बड़े बदलाव के लिए चलाई जा रही मुहीम का पार्टी नेता शशि थरूर ने समर्थन किया है। जिसके बाद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शशि थरूर को मिलने के लिए बुलाया है।

मिली जानकारी के अनुसार सोनिया गांधी और शशि थरूर के बीच दिल्ली में अहम मुलाकात हुई है। इस दौरान कांग्रेस के कई नेता मौजूद रहे। शशि थरूर को लेकर चर्चाएं चल रही हैं कि वह भी इस बार अध्यक्ष पद की दावेदारी ठोक सकते हैं।

उदयपुर घोषणा को लागू करने को हो रही मांग

उदयपुर घोषणा को कांग्रेस में बड़े बदलाव के लिए पूरी तरह लागू करने को लेकर भी मांग चल रही हैं। युवा कार्यकर्ताओं की तरफ से कांग्रेस में रचनात्मक सुधारों के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत पार्टी के कई ग्रुपों पर एक अपील पत्र वायरल हो रहा है। जिस पर 1500 से अधिक लोग हस्ताक्षर भी कर चुके। शशि थरूर ने भी इसका समर्थन किया है। साथ ही इसे आगे लेकर जाने की बात बोली है।

क्या लिखा है अपील पत्र में?        

बता दें कि इस अपील पत्र में लिखा है कि “हम अपने देश की आशाओं और आकांक्षाओं को प्रतिबिंबित करने के लिए पार्टी को मजबूत करने की इच्छा से कांग्रेस पार्टी के सदस्य हैं। कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के आगामी चुनाव में उम्मीदवारों से हमारी एक अपील है। इस पत्र में पार्टी के विचार-मंथन सत्र के बाद 15 मई, 2022 को किए गए उदयपुर घोषणापत्र के कुछ सिद्धांतों का उल्लेख किया गया है। इसमें मांग की गई है कि अध्यक्ष के चुनाव में प्रत्येक उम्मीदवार से अपील करते हैं कि वे सीडब्ल्यूसी तक ब्लॉक समितियों से पार्टी के सदस्यों को शामिल करने और पद संभालने के पहले 100 दिनों के भीतर उदयपुर घोषणा को संपूर्ण रूप से लागू करने का सार्वजनिक संकल्प लें।”

इस दिन होगा अध्यक्ष पद का चुनाव

जानकारी दे दें कि कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए 17 अक्टूबर को चुनाव होगा। जिसके तहत 24 सितंबर से 30 सितंबर तक नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया चलेगी। इसके अलावा 8 अक्तूबर तक नामांकन वापस ले सकते हैं। 17 अक्टूबर को चुनाव होने के बाद 19 अक्टूबर को परिणाम आएगा।

Also Read : सुप्रीम कोर्ट ने किया कश्मीरी पंडितों के नरसंहार की SIT जांच याचिका पर सुनवाई करने से इंकार, दी ये सलाह

Latest news
Related news