जब गुस्सा आए तो इस तरह निकालें मन की भड़ास, खुशी मिलेगी

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली (Angry ) : 

एक समय था जब लोगों के पास काफी समय हुआ करता था। लोग मिलकर घंटों समय साथ में बिताते थे और आपस में बातचीत कर अपने गिले शिकवों को दूर कर लेते थे। लेकिन आजकल के कम्प्यूटर वाले युग में सब कुछ बदल चुका है। संयुक्त परिवार एकल हो चुके हैं, रिश्ते सिर्फ मोबाइल तक सिमट कर रह गए हैं। ऑफिस में इतना ज्यादा वर्कलोड है, कि परिवार के साथ चंद पल बिताने के लिए भी समय निकाल पाना मुश्किल हो जाता है। न कोई किसी से मन की बात कह पाता है, न सुनने के लिए किसी के पास समय है। इंसान का जीवन बस काम और जिम्मेदारियों के बीच सिमटकर रह गया है।

यही वजह है कि आजकल तनाव जैसी परेशानी आम होती जा रही है। तनाव जब हद से ज्यादा बढ़ जाता है तो डिप्रेशन का रूप ले लेता है। डिप्रेशन होने पर व्यक्ति सही निर्णय ले पाने की क्षमता भी खोने लगता है और कई बार गलत कदम तक उठा लेता है। इन स्थितियों से बचने के लिए मन की भड़ास को निकालना बहुत जरूरी है। यहां जानिए ऐसे 4 आसान तरीके जो आपके मन की बेचैनी को कम करने और आपके मूड को बेहतर करने में मददगार साबित होंगे।

मन की बात को पन्नों पर उतारें

पूरे दिन में जब भी आपको समय मिले, आप कुछ देर बैठकर अपनी डायरी लिखें। इस डायरी में अपने मन की हर अच्छी और बुरी बात लिखें। जो चीज आपको परेशान कर रही है, उसके बारे में लिखें। अपने जज्बात को बाहर निकालने से मन काफी हल्का हो जाता है। इसलिए रोजाना डायरी जरूर लिखें।

संगीत का सहारा लें

म्यूजिक को तनाव दूर करने की बेस्ट थैरेपी माना गया है। आप खुद को म्यूजिक की किसी एक्टिविटी से जरूर जोड़ें। इसके लिए या तो डांस क्लास जॉइन करें। डांस आपके मूड को बेहतर करने का काम करता है। या फिर सिंगिंग, गिटार या किसी अन्य वाद्य यंत्र को सीखने के लिए क्लासेज जॉइन करें। अगर समय कम है तो आप क्लास वीकली लें और इसका अभ्यास रोजाना घर आकर करें। इससे आपके मन में फालतू बातें नहीं आएंगी और आपका मन शांत होगा और आप काफी अच्छा महसूस करेंगे।

किसी विश्वासपात्र से बात करें

तनाव को दूर करने का ये सबसे पुराना, लेकिन कारगर उपाय है। जब भी आपको कोई बात परेशान करे, आप अपने किसी विश्वासपात्र व्यक्ति से अपनी समस्या बताएं। उससे सुझाव मांगें। हो सकता है कि सामने वाले से आपको परेशानी का हल भी मिल जाए और आपका मूड भी बेहतर हो जाए। वैसे भी किसी अपने से बात कह देने से मन का बोझ उतर जाता है।

मेडिटेशन की आदत बनाएं

मेडिटेशन एक ऐसी चीज है जो तनाव को आपके आसपास भटकने भी नहीं देती। अगर आप सुबह जल्दी उठकर मेडिटेशन नहीं कर सकते, तो शाम को या रात को जब भी फ्री महसूस करें, कुछ देर मेडिटेशन जरूर करें। मेडिटेशन करने से आपका मन स्थिर होता है। मन को शांति मिलती है और आप सारे काम बेहतर तरीके से कर पाते हैं।

ये भी पढ़ें :

Corona Third Wave : महाराष्ट्र के मंत्री नितिन राउत ने गणेश चतुर्थी से पहले प्रतिबंध लगाने की दी चेतावनी

स्कूलों में लगेंगे ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम: सिंगला

 

 

Latest news
Related news