Tips of Avoid Panic : घबराहट से निजात पाने के उपाय साथ ही रखे सावधानियां

Tips of Avoid Panic

Tips of Avoid Panic : सांस न आने के कारण घबराहट होने लगती है। सांस लेने के दौरान फेंफड़ों से निकलने वाली घर घर की वह ध्वनि को घबराहट कहते हैं। घबराहट होने पर फेफड़ों से निकलने वाली हवा नाक की संकुचित वायु नलियों से होकर गुजरती है, तो यह ध्वनि पैदा होती है। घबराहट होने पर आप घर पर कुछ उपाय करके घबराहट से निजात पा सकते है। तो आइए जानते है इन उपायों के बारे में …..

READ ALSO : Side Effect Of Eating Raw Rice : कच्चे चावल खाने से शरीर को नुकसान हो सकते हैं

गर्म पानी पिएं Tips of Avoid Panic

गरम तरल पदार्थ (जैसे चाय-कॉफी) पीने से भी घबराहट की समस्या से बचा जा सकता है। गरम तरल पदार्थ पीने से बलगम व गले में दर्द और बहती नाक से निजात मिल सकता है। इसके लिए आप गर्म पानी को भी पीने में इस्तेमाल कर सकते हैं।

विटामिन सी से भरपूर आहार लें 

अधिक फल और सब्जियों के सेवन से घबराहट से राहत मिल सकती है। फल और सब्जियों के अंदर विटामिन ए विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। घबराहट होने पर खट्टे फल जैसे संतरा, मौसमी आदि खा सकते है। इसके अलावा टमाटर, शिमला मिर्च, पालक आदि का भी सेवन कर सकते है।

होंठ सिकोड़ कर सांस लें Tips of Avoid Panic

होंठ सिकोड़ कर सांस लेने से सांस को अधिक प्रभावी बना देती है जिससे श्वसन मार्ग लंबे समय तक खुले रहते हैं। पहले धीरे-धीरे अपनी नाक के माध्यम से सांस अंदर लें और फिर होठों को सिकोड़ कर (सीटी मारने जैसे प्रक्रिया) मुंह के द्वारा सांस को बिलकुल धीरे-धीरे छोड़ दें। जब तक आपको अच्छा महसूस नहीं होता इस प्रक्रिया को दिन में कई बार करते रहें। आपकी घबराहट की समस्या में थोड़ी बहुत कम हो जाएगी या उसमें काफी सुधार हो जाएगा।

भाप लेने से मिलेगी राहत

भाप लेने से घबराहट की समस्या से राहत पाई जा सकती है। भाप में नम और गर्म हवा होती है।
किसी बड़े बर्तन में गर्म पानी डालें और उसकी भाप लें।
बर्तन के ऊपर मुंह करके अपने सिर को ऊपर से तौलिया द्वारा ढंक लेने से अधिक भाप मिलती है।
गर्म पानी में मेन्थॉल या नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदे डालने से भाप और प्रभावी रूप से काम करती हैं।

घबराहट होने पर रखे सावधानियां Tips of Avoid Panic

नशीले पदार्थो का सेवन ना करें Tips of Avoid Panic

घबराहट होने पर नशीले पदार्थो के सेवन से बचाना। नशीले पदार्थो के सेवन से बच्चों में भी घबराहट की समस्या हो सकती है। बच्चों को भी सेकंडहैंड स्मोक से दूर रखें। सेकंड हैंड स्मोक/पैसिव स्मोकिंग के कारण बच्चों में अस्थमा होने का खतरा बढ़ जाता है।

स्ट्रेस से बचें 

अगर आप स्ट्रेस के शिकार हैं तो तुरंत इसके पीछे का कारण जानें और उसे सॉल्व करें। इससे अलग एलर्जिक स्थितियों से भी बचें।

ठंड और शुष्क मौसम में व्यायाम न करें Tips of Avoid Panic

ठंडे और शुष्क मौसम में व्यायाम करने से गले की मांसपेशियों पर प्रभाव पड़ता है और वह सख्त हो जाती हैं, जिसकी वजह से भी तेज तेज सांस लेने लगती है और घबराहट की आवाज आती है ऐसे में ठंडे मौसम में ज्यादा परिश्रम करने से बचें।

Tips of Avoid Panic 

READ ALSO : 4 Symptoms Of Intestinal Malfunction : इन लक्षण को देख कर कभी न इग्नोर करे हो सकती है आंतों में खराबी

READ ALSO : Brain Stroke : परहेज से आप ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कम कर सकते हैं

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest news
Related news