जानिए अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन किस बीमारी को बढ़ाता है ?

इंडिया न्यूज (Excess Protein Harmful)
बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें लगता है कि प्रोटीन की वजह से केवल मसल्स ही बिल्ड होते हैं। जबकि प्रोटीन शरीर में बहुत से कार्य करता है। प्रोटीन के जरिए इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर होता है। इसकी वजह से पेट लंबे समय तक भरा रहता है। कुल मिलाकर प्रोटीन डाइट की वजह से शरीर अपना काम काज आसानी से कर लेता है। यही नहीं वजन कम करने के लिए प्रोटीन डाइट का सेवन करना जरूरी होता है। लेकिन ज्यादा मात्रा में प्रोटीन का सेवन करने से वजन भी बढ़ता है। जो सेहत के लिए नुकसानदायक भी होता है। तो चलिए जानते हैं इस बारे में।

एनर्जी नहीं होने पर

जो लोग अधिक प्रोटीन का सेवन करते हैं वे थकान और भारीपन महसूस करते हैं। थकान की वजह से एक्सरसाइज नहीं करने पर शरीर में कैलोरीज की मात्रा बढ़ती जाती है, जिससे वजन बढ़ जाता है।

अत्यधिक कार्ब्स का सेवन

ज्यादातर लोग वजन कम करने के लिए कार्ब्स की मात्रा में भारी कटौती कर देते हैं, जो सही भी होता है। लेकिन कार्ब्स की मात्रा कम या खत्म करने से समस्या बढ़ सकती है। जब आप वापस कार्ब्स का सेवन करते हैं, तो आपको मीठा खाने की क्रेविंग बढ़ती है। जिससे आप अत्यधिक मात्रा में कार्ब्स का सेवन करते हैं, जो वजन बढ़ाने में मदद करता है।

फाइबर का पर्याप्त मात्रा में नहीं मिलना

फाइबर युक्त पदार्थ शरीर के लिए बेहद जरूरी होते हैं। यह वजन घटाने में भी मददगार साबित होते है। अक्सर लोग वजन कम करने की चाह में प्रोटीन का अधिक सेवन करते हैं और फाइबर की तरफ ध्यान नहीं देते। फाइबर की पर्याप्त मात्रा ना मिलने पर वजन बढ़ता है।

अधिक मात्रा में नॉन वेज का सेवन

अगर आप बहुत अधिक नॉन वेज फूड खा रहे हैं, तो आपका वजन बढ़ सकता है। अधिक मात्रा में मीट या नॉन वेज फूड शरीर को प्रोटीन तो देता है, लेकिन अधिक मात्रा में कैलोरीज आपको मिलती है जिनसे फैट बढ़ता है।

कैसे जानें कि आप अधिकमात्रा में प्रोटीन ले रहे?

  • यदि आपको जरूरत से ज्यादा प्यास लगती है, तो इसका मतलब है कि आपकी किडनी को अधिक मेहनत करनी पड़ रही है। कई बार ऐसा प्रोटीन की अधिकता के कारण होता है। यदि आपको अक्सर कब्ज की शिकायत रहती है, तो भी इसका अर्थ है कि आप प्रोटीन डाइट अधिक ले रहे हैं और फाइबर युक्त डाइट कम। आपके गट बैक्टीरिया का असर आपकी मेंटल हेल्थ पर पड़ता है। यदि आप सभी तरह के पोषक तत्व नहीं लेते, तो इससे आप अधिक मेंटल तनाव में रहते हैं। अधिक प्रोटीन डाइट के सेवन से सेरोटोनिन हार्मोन कम बनता है और आप अक्सर मूड स्विंग का शिकार रहते हैं।
  • यदि महिलाएं अपनी डाइट से कार्ब्स कम करती हैं, तो उनकी पीरियड्स साइकिल पर इसका असर हो सकता है। अधिक प्रोटीन डाइट से शरीर में फैट की मात्रा बढ़ने लगती है, जिसका असर फर्टिलिटी और पीरियड्स पर पड़ता है। माना कि प्रोटीन शरीर के लिए जरूरी है। ये शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए बहुत से कार्य करता है। लेकिन इसके अधिक सेवन से वजन बढ़ सकता है। इसलिए प्रोटीन का सेवन करते समय इसकी मात्रा का ध्यान रखना जरूरी होता है।

ये भी पढ़ें: जमीन पर सोने से ये बीमारियां होती हैं दूर, जानिए कैसे ?

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !
Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news