Health Care: Cooking Oil को बार-बार गर्म करना बदल देगा आपका DNA

(इंडिया न्यूज़,Reheating Cooking Oil Frequently Will Change Your DNA): क्या आप भी बार- बार तेल गर्म करते हैं ? क्या आप भी समोसे, भटूरे, पूड़ियां छानने के बाद बचे तेल को दोबारा इस्तेमाल करते हैं तो हो जाएँ सावधान। सरकार ने जारी की है चेतावनी। जी हाँ, घर ही नहीं, आप चाहें मिठाई की दुकान देख लीजिए या फिर ढाबों से लेकर बड़े-बड़े रेस्तरां देख लीजिए, दिनभर भट्‌ठी पर तेल से भरी कड़ाही चढ़ी रहती है और पकवान बनते रहते हैं। अगर आपने भी नोटिस किया होगा कि जैसे-जैसे कड़ाही में तेल कम होता जाता है, उसी में और तेल डाल दिया जाता है।

होटेल या ढाबों में तो ये हिसाब रहता है कि एक बार कड़ाही चढ़ गई, तो उसमें मौजूद तेल की आखिरी बूंद तक इस्तेमाल कर ली जाती है, लेकिन शायद आप नहीं जानते कि बार बार गर्म होते तेल या रिहीटिंग से घातक केमिकल बनने लगते हैं, जिनसे कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है,यही नहीं दिल की धमनियाँ तक जाम हो जाती हैं। लेकिन ये तो बाहर की बात रही लेकिन अगर आप घर में तेल को बार-बार गर्म कर इस्तेमाल करते हैं तो भी आप पर खतरा मंडरा रहा है।

हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि इस्तेमाल किये हुए तेल को बार बार इस्तेमाल करना आपके DNA में बदलाव ला सकता है।शरीर में ‘जेनोटॉक्सिक‘ (DNA को नुकसान पहुंचाने वाली), ‘म्यूटेजेनिक‘ (DNA में बदलाव लाने वाली) और ‘कार्सिनोजेनिक‘ (कैंसर पैदा करने वाली) एक्टिविटीज बढ़ जाती हैं। रिसर्च में पाया गया है कि ऐसे तेल से सेल्स में गड़बड़ियां होने लगती हैं, उनके टूटने की रफ्तार बढ़ जाती है, क्रोमोसोम को नुकसान पहुँचता है। यही नहीं इस तरह के तेल से फेफड़े, आंत, ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

बता दें कि, बार बार तेल को गर्म करना और उसे इस्तेमाल करने से आपकी माँ बनने की क्षमता खत्म कर सकता है। यही नहीं बार बार इस्तेमाल हो चुके तेल से पुरुषों की प्रजनन क्षमता भी गिरने लगती है। बैड कोलेस्ट्रोल बढ़ता है और एसिडिटी बढ़ती है।

अमेरिका में हुए कैंसर पर शोध कर रहे वैज्ञानिक बताते हैं कि तेज आंच पर तेल को गर्म करने के बाद बचे तेल को दोबारा इस्तेमाल करना सेहत के लिए बहुत नुकसानदेह है। यही नहीं बार बार कुकिंग ऑयल को गर्म करना और इससे पैदा हुए धुएं से भी कई खतरनाक गैसें पैदा होती हैं, जो सेहत को नुकसान पहुँचाती हैं।
तेल के साथ धुंआ भी फैटी एसिड युक्त होता है और इससे न्यूमोनिया, लंग कैंसर, टीबी, अस्थमा जैसी फेफड़ों से जुड़ी गंभीर बीमारियाँ मिल सकती है।

बता दें कि, आखिर तेल का इस्तेमाल कितनी बार और कैसे करना सेफ है। FSSAI ने कहा है कि खाने के तेल को 1 बार ही गर्म करना सबसे अच्छा है। फिर भी यूज़ करना चाहते हैं तो 3 बार से ज्यादा इस्तेमाल न करें.

 

 

Latest news
Related news