डेंगू के बढ़ते केस और कोविड-19 के कईं लक्षण हैं एक जैसे, इस तरह पहचाने दोनों वायरस में फर्क

Covid-19 vs Dengue:- पिछले कुछ महीनों में देश के ज़्यादातर हिस्सों में खूब बारिश हुई है। जिसकी वजह से डेंगू के मामले भी काफी बढ़ते दिख रहे हैं। हाल ही में एक रिपोर्ट के अनुसार बताया गया कि लोगों को डेंगू और कोविड-19 संक्रमण को समझने में दिक्कत आ रही है, जिसकी वजह से इलाज में भी देर हो रही है। जो एक चिंताजनक बात भी है। ऐसे में इन दोनों बीमारियों में फर्क समझना ज़रूरी है।

ऐसे जानें दोनों वायरस में अंतर

आपको बता दें, डेंगू चार तरह के वायरस की वजह से होता है, वहीं, कोविड-19 SARS-CoV-2 वायरस की वजह से होता है। कोविड एक संक्रमित व्यक्ति की खांसने, छींकने, बात करने से फैल सकता है। तो वहीं, डेंगू एडीज़ एजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन दोनों बीमारियों के कुछ लक्षण बिल्कुल एक तरह के ही हैं, जैसे, शरीर में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, ठंड लगना, बुखार और मतली।

बुखार से पता लगाए डेंगू है या कोविड

कोविड-19 और डेंगू दोनों में ही बुखार आना एक आम लक्षण है। हालांकि, फिर भी इन दोनों संक्रमण के बुखार में फर्क होता है। आमतौर पर कोविड में आने वाला बुखार हल्का देखा जाता है, जो 102 तक पहुंच सकता है। साथ ही इस आम बुखार को दवा से नीचे लाया जा सकता है। वहीं दूसरी तरफ, डेंगू संक्रमण में बुखार तेज़ होता है, जो 103 से 105 तक जा सकता है। इसके साथ ही कई लक्षण भी परेशान करते हैं, जिसके लिए फौरन डॉक्टर से संपर्क करना ज़रूरी है।

इसके अलावा, कोविड में आने वाला बुखार, आता-जाता भी रहता है। वहीं, डेंगू में बुखार लगातार बना रहता है। इसलिए बुखार किस तरह का है इससे भी कोविड-19 और डेंगू में फर्क समझा जा सकता है। डेंगू से संक्रमित होने के 3 से 10 दिन के अंदर आपको लक्षण दिखने शुरू होते हैं। तो वहीं, कोविड-19 में लक्षण 5 से 7 दिनों में दिखने लगते हैं।

ऐसे समझें दोनों संक्रमण के लक्षणों में फर्क

वैसे तो कोविड और डेंगू के कई लक्षण एक तरह के हैं, लेकिन इनके सामने आने का समय अलग-अलग होता है। इसके अलावा इन दोनों के शुरुआती लक्षणों से भी फर्क का पता लगाया जा सकता है।

जैसे कोविड संक्रमण की शुरुआत एक समय पर एक या उससे ज़्यादा कोविड और डेंगू के कई लक्षणकोविड और डेंगू के कई लक्षणकोविड और डेंगू के कई लक्षणलक्षणों से हो सकती है, जो हर व्यक्ति के साथ बदल भी सकते हैं। लेकिन, डेंगू में आमतौर पर संक्रमण की शुरुआत सिर दर्द या कमज़ोरी के साथ होती है।

कोविड और डेंगू में गंभीर संक्रमण

अमेरिका के CDC के अनुसार, डेंगू के मामलों में, बीमारी अगर गंभीर स्तर पर जाती हैं, तो इससे प्लाज़मा लीकेज हो जाता है, जिससे बॉडी शॉक में चली जाती है, फ्लूएड जमा हो जाता है, थ्रोम्बोसाइटोपेनिया के साथ गंभीर रक्तस्राव, हृदय की समस्याएं और अंगों को गंभीर हानि पहुंचती है।

कोविड-19 में गंभीप बीमारी के लक्षणों में:

  • सांस लेने में कष्ट
  • हाइपोक्सिया
  • शॉक
  • सांस की विफलता
  • कई अंगों का फेल हो जाना

इस तरह रहें सुरक्षित

कोविड-19 से बचने के लिए मास्क पहनना बेहद ज़रूरी है, ताकि वायरस को फैलने से रोका जा सके। इसके अलावा शारीरिक दूरी, हाथों की सफाई और वैक्सीन लगवाने से आप गंभीर संक्रमण से बच सकते हैं।

वहीं, डेंगू से बचाव के लिए, मॉस्कीटो रिपेलेंट, पूरी बाज़ू की शर्ट, पूरी पैंट्स पहनें और साफ-सफाई का ध्यान रखें। घर के आसपास पानी का जमाव न होने दें। बता दें, रुके हुए पानी में मलेरिया और डेंगू के मच्छर पनपते हैं।

 

ये भी पढे़:- इस दिन से शुरु हो रहा है भगवान विष्णु का प्रिय माह कार्तिक मास, जानिए तिथि और इसका महत्व – India News

Latest news
Related news