Health Tips: सर्दियों में च्यवनप्राश कब,कैसे और कितना खाना चाहिए, यहां जाने

सर्दियों का मौसम के आते ही घर में हर कोई च्यवनप्राश खाना शुरू कर देता है च्यवनप्राश में कई जड़ी बूटियां होती हैं जो हमारे शरीर को गर्म और इम्युनिटी को बढ़ाने का काम करती हैं जिससे वायरल इन्फेक्शन से लड़ने में शरीर को मदद मिल सके परंतु क्या आपको च्यवनप्राश खाने का सही तरीका पता है? इसे कब, कैसे खाना चाहिए यदि नही तो चलिए हम बताते है-

कितना-कब और कैसे

च्यवनप्राश को पर्याप्त मात्रा (limited amount) में ही खाना चाहिए यदि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो आपको पेट फूलना, लूज मोशन, आदि हो सकता है एक व्यस्क रोजाना 1 चम्मच च्यवनप्राश सुबह-शाम गुनगुने पानी या दूध के साथ ले सकता है अगर बच्चों को आप च्यवनप्राश दे रहे हैं तो उन्हें आधा चम्मच च्यवनप्राश सुबह-शाम देना चाहिए।

इन पदार्थो के साथ न करें च्यवनप्राश का सेवन 

यदि परिवार में अस्थमा या सांस के मरीज हैं तो उन्हें च्यवनप्राश दूध या दही के साथ नहीं खाना चाहिए जिन्हें ब्लड शुगर की समस्या है उन्हें भी डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करना चाहिए अगर आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल है तो आप हर दिन 3 ग्राम च्यवनप्राश का सेवन कर सकते हैं।

च्यवनप्राश के फायदे, उपयोग और नुकसान - Chyawanprash Benefits in Hindi

च्यवनप्राश के फायदे

चवनप्राश शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने का काम करता है जो ठंड के मौसम में वायरल इन्फेक्शन से बचा के रखता है यह विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जो हमारी सेहत के लिए अच्छा होता है।

च्यवनप्राश का सेवन प्रजनन क्षमता को भी बढ़ाता है यह पुरुषों और महिलाओं, दोनों के लिए फायदेमंद है।

यह भी पढ़ें- Tea Addiction: अगर आप भी चाय पीने की आदत को छुड़ाना चाहते तो अपनाएं ये 3 आसान टिप्स

Latest news
Related news