अधिकारी पी रहे मिनरल वाटर, जनता गंदे नाले का पानी पीने को मजबूर

इंडिया न्यूज, हरियाणा कैथल Officials-are-drinking-mineral-water-public-forced-to-drink-dirty-drain-water: भीषण गर्मी के चलते पूंडरी क्षेत्र के गांव डीग में स्वच्छ पेयजल की किल्लत है। गांव में अधिकतर जगहों पर पेयजल पाइप लाइन लीकेज के कारण पीने के पानी में नाले का गंदा पानी मिश्रित हो रहा है। ग्रामीणों को घंटों तक टोंटी से स्वच्छ पेयजल आने का इंतजार करना पड़ता है। जब तक स्वच्छ पानी आता है,तो टोंटी बंद होने का समय हो जाता है। गंदे पानी से यहां के लोगों का स्वास्थ्य भी प्रभावित हो रहा है।

टोंटी से आ रहा गंदा पानी

विदित रहे कि जिला मुख्यालय से यह गांव लगभग तीस से चालीस किलोमीटर दूरी पर स्थित है। बीते दो से तीन महीने पहले जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से गांव में नई पाइप लाइन बिछाई गई। उसके बाद भी गांव में अधिकतर जगहों पर पाइपलाइन लीकेज है। ग्रामीणों का आरोप है कि पाइप लाइन के कार्य में भी खानापूर्ति की गई। गांव में हालात ऐसे बने हुए हंै कि कुछ हिस्से में अभी भी पेयजल सप्लाई की पहुंच नहीं है। यहां के स्थानीय लोगों को पास के ट्यूबवेल या फिर पड़ोसी के यहां से पानी लेकर आना पड़ रहा है।

पीने के पानी में आती है बदबू:-

ग्रामीणों प्रदीप, विनोद, जगमिंद्र, रामपाल, सुमित, जयभगवान, प्रवीन व महिलाओं महिंद्रों, कमलेश, सूरती, बोहती, इंद्रो का कहना है कि टोंटी से पीने के पानी में नाले का गंदा पानी आता है, जोकि पीने लायक नहीं है। वे मजबूरन पड़ोसियों के यहां से पीने का पानी लेकर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे दिनभर तो दिहाड़ी के लिए बाहर जाते हैं, लेकिन शाम को जब घर लौटते हैं तो टोंटी में स्वच्छ पानी आने का इंतजार करना पड़ता है। कईं बार तो पानी ही नहीं आता। इससे उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

यहां है ज्यादा समस्या:-

गांव में मुख्य प्रवेश मार्ग से लेकर चोचड़ा रोड की ओर जाने वाले रास्ते पर स्थिति बेहद खराब है। यहां सडक़ के एक तरफ नाला है। इसी से सटी हुई पेयजल पाइप लाइन है। इसी पाइप लाइन में नाले का गंदा पानी मिश्रित हो रहा है। जो लोगों के घरों तक जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ गांव में शिव मंदिर वाली गली जो कि गांव में अंदर की मुख्य गली है वहां भी कईं जगहों पर पाइप लाइन लीकेज है। जिस कारण पीने के पानी में नालियों का पानी मिश्रित हो रहा है।

गंदे पानी से लोगों का बिगड़ा स्वास्थ्य:-

ग्रामीणों का कहना है टोंटी के गंदे पानी के कारण उनका स्वास्थ्य भी बिगड़ गया है। किसी को त्वचा की समस्या, तो किसी को बुखार इत्यादि बिमारियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने जल्द समस्या दुरुस्त कराने की मांग की।

शिकायत के बाद भी नहीं हो रहा समस्या का समाधान:-

इस संबंध में जन स्वास्थ्य विभाग के एसई अशोक खंडूजा को शिकायत की गई है। लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है। अधिकारियों की ओर से केवल आश्वासन ही दिए जा रहे है।

 

Read More: अग्निवीर वायु भर्ती परीक्षा को लेकर मॉडल पेपर किया जारी

 

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news