NH Amritsar to Jamnagar पर हरियाणा में जल्द होगा काम शुरू, 864 करोड़ निर्माण कार्य पर होंगे खर्च

डॉ रविंद्र मलिक, चंडीगढ़:
NH Amritsar to Jamnagar : केंद्र सरकार द्वारा निरंतर राष्ट्रीय राजमार्ग (नेशनल हाईवे) निर्माण किया जा रहा है। कई राष्ट्रीय राजमार्ग हरियाणा से भी गुजरते हैं और कई राज्यों को आपस में जोड़ते हैं। कई राष्ट्रीय राजमार्ग हैं ऐसे जिनके चौड़ीकरण या विस्तार का काम चल रहा है, उनमें से भी कई हरियाणा से होकर गुजरते हैं। इनमें से एक है अमृतसर-जामनगर नेशनल हाईवे है। इसको 4 से 6 लेन किया जाने का काम हरियाणा में जल्दी ही शुरू होना है। प्रदेश में भी इसका कुछ हिस्सा पड़ता है और इसको लेकर लगभग तमाम औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं।

उम्मीद है कि जल्द ही इसको चौड़ा करने का काम शुरू हो जाएगा। इस हाईवे को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 54 कहा जाता है। वहीं दूसरी तरफ से ये भी बता दें पिछले कुछ समय में राज्य सरकार द्वारा भी प्रदेश में स्टेट हाईवे या अन्य सड़कों के निर्माण के अप्रूवल दी है ताकि लोगों को आवाजाही में किसी की दिक्कत ना आए और परिवहन व्यवस्था सुचारु रुप से संचालित होती रहे। ये भी बताना जरूरी है कि प्रदेश में कई अन्य हाईवे या बाय पास को लेकर भी काम शुरू होना है जिसको लेकर औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं।

हरियाणा में करीब 34.8 किलोमीटर लंबाई है हाईवे की NH Amritsar to Jamnagar 

हरियाणा में इस इस नेशनल हाईवे का मंडी डबवाली से बॉर्डर एरिया में लगते संगरिया के बीच की दूरी 34.8 किलोमीटर के आस पास है। हाईवे के 6 लेन से ट्रैफिक से काफी हद तक जाम से मुक्ति मिलेगी और समय के साथ तेल की भी बचत होगी। इसके अलावा बॉर्डर इलाकों से लोगों को आने जाने में समय कम लगेगा।

कई राज्यों से होकर गुजरता है नेशनल हाईवे NH Amritsar to Jamnagar 

उपरोक्त नेशनल हाईवे देश के कई राज्यों से होकर गुजरता है। ये पंजाब के अमृतसर से लेकर गुजरात के जामनगर तक जाता है। इस बीच में हरियाणा और राजस्थान के भी इलाके आते हैं। प्रदेश में जहां से ये हाईवे गुजरता है, वो प्रदेश का लास्ट पॉइंट है और इसके बाद राजस्थान शुरू हो जाता है। मिली जानकारी अनुसार हाईवे का पूरा काम होने के बाद कुल दूरी में भी कमी आएगी।

हाईवे को चौड़ा करने पर 864 होंगे खर्च NH Amritsar to Jamnagar 

ये भी बता दें कि हाईवे के चौड़ीकरण के कार्य पर भारी भरकम राशि खर्च होनी है। मिली जानकारी अनुसार इस पर कुल करीब 1000 करोड़ से ज्यादा की राशि खर्च होनी है। 4 इसमें 4 से 6 लेन करने में निर्माण कार्य समेत तक कई तरह के खर्च शामिल हैं। ये भी बता दें कि किसी भी हाईवे के निर्माण में मुख्य रूप से दो खर्च शामिल होते हैं, एक होता है इसके निर्माण संबंधी तो दूसरा होता जमीन की खरीद पर आने वाला खर्च, जहां से हाईवे गुजरता है।

मिली जानकारी अनुसार कुल 108 हेक्टेयर जमीन की जरूरत इस काम के लिए पड़ेगी। वहीं ये भी बता दें कि हाईवे को 4 से 6 लेन करने के निर्माण कार्य में कुल करीब 864 करोड़ की लागत आनी है और जमीन की कीमत 185 करोड़ बताई गई है। मिली जानकारी हाइवे को चौड़ा करने के लिए जमीन का अधिग्रहण हो चुका है। जो जमीन किसानों से ली गई है उसके लिए उनका बाकायदा पेमेंट भी कर दी गई है। जमीन लेने को लेकर दस्तावेज संबंधी औपचारिकताएं पूरी करनी होती हैं, महज वो बची है और उम्मीद की जा रही है कि इसमें ज्यादा समय नहीं लगेगा।

एनएचएआई के एक सीनियर अधिकारी आरपी सिंह ने कहा है कि हरियाणा में हाईवे का करीब 34.8 किलोमीटर का स्ट्रैच पड़ता है। इसको लेकर जल्द ही काम शुरू किया जाएगा। फिलहाल ये 4 लेन है और इसके 6 लेन किया जाएगा। ऐसा करने से हाईवे पर वाहनों की आवाजाही आसान होगी और इससे कई राज्यों को फायदा होगा। नेशनल हाईवे देश के कई राज्यों से होकर गुजरता है। इसके अलावा भी कई अन्य राजमार्गों के विस्तारीकरण संबंधी औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं।

Read More: Pakistan Kills Fisherman पाकिस्तान ने ली महाराष्ट्र के मछुआरे की जान

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest news
Related news