सरकारी नौकरी पाने के लिए युवाओं का निजी सेक्टर में अनुभव जरुरी, गोवा सरकार का बड़ा फैसला

पणजी :  गोवा में सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए सुनहरा अवसर, मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने मंगलवार को एक बड़ी घोषणा की है। सरकार का कहना है कि गोवा में सरकारी नौकरी पाने के लिए युवाओं को पहले निजी सेक्टर में जाब करनी होगी। जिन युवाओं के पास जॉब का अनुभव होगा वही, सरकारी नौकरी के पात्र होंगे। सीएम प्रमोद सावंत ने कहा कि राज्य में प्रशिक्षित और प्रतिभावान श्रमिकों की तलाश के लिए सरकार ने यह निर्णय लिया है कि सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने वालों के पास कम से कम अपने निजी सेक्टर में एक वर्ष काम करने का अनुभव होना चाहिए।

गोवा में बिना अनुभव नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

मंगलवार को गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने रोजगार मेला में हिस्सा लिया, जहां तमाम अभ्यर्थियों को संबोधित करते हुए सीएम ने एक बड़ी घोषणा कर दी है. सीएम का कहना है कि अब सीधे सरकारी नौकरी नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा, कि ‘राज्य में ऐसा कई बार देखा गया है, कि जहां स्नातक पास करने से पहले अभ्यर्थियों ने अकाउंट्स और अन्य पदों के लिए आवेदन किया। इसी तरह पीएसआइ जाब के लिए भी प्रावधान था। लेकिन अब से ऐसा नहीं होगा, सरकारी नौकरी के लिए निजी क्षेत्र में कम से कम एक वर्ष का अनुभव होना चाहिए जिसके बाद ही युवा सरकारी नौकरी ले पाएंगे।

ये अभ्यर्थी ही होंगे सरकारी नौकरी के पात्र

गोवा सीएम का कहना है कि, ‘भविष्य में सरकारी नौकरी में आवेदन करने के लिए, पिछले काम का अनुभव अब जरूरी होगा। जब तक आप निजी सेक्टर में जॉब अनुभव नहीं लेंगे आप सरकारी नौकरी के पात्र नहीं हो पाएंगे। सीएम कहा कि अब वो बात पुरानी हो गई, जब लोग सोचते थे कि उनकी पढ़ाई पूरी हो गई और अब उन्हें बिना अनुभव के सरकारी नौकरी मिल जाएगी।’ सावंत ने कहा, ‘गोवा सरकार एक तरफ राज्य में इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान दे रही है, तो दूसरी तरफ मानव संसाधन पर भी काम कर रही है।’

गोवा सरकार का मानव संसाधन बढ़ाने पर जोर

गोवा सरकार मानव संसाधन बढ़ाने पर विचार कर रही हैं, जिसे लेकर सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है, गोवा सरकार बिना अनुभव के सीधे सरकारी नौकरी देने को बंद करने पर विचार कर रही हैं। इस कदम से प्रतिभावान मानव संसाधन पैदा होंगे। सीएम का कहना है कि हमने भर्ती के लिए तय नियम और कानून को बदलने पर विचार किया है। पिछले 30 वर्षों से इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। इसके साथ ही सीएम ने स्नातक पास व अन्य अभ्यर्थियों से अतिरिक्त कोर्स करने का आग्रह किया है। ताकि उनके क्वालिफिकेशन को अपग्रेड किया जा सके और जॉब लेने में असानी हो सकें।

 

Latest news
Related news