साई उस लम्हे को करेगी याद जब उसने विराट को प्रेग्नेंसी की सूचना दी थी

इंडिया न्यूज़, Serial Update (Mumbai)

साईं कल्पना करती है कि विराट और खुद एक बच्चे को नहलाते हैं और गुणवत्तापूर्ण पारिवारिक समय का आनंद लेते हैं। अश्विनी उसके पास जाता है और उसे कल्पना से बाहर कर देता है। वह साईं के प्रति अपनी चिंता दिखाता है और कहता है कि वह समझ सकती है कि भवानी उस पर बच्चे के लिए दबाव बना रही है, लेकिन उसे मजबूत रहने की जरूरत है।

वह आश्वस्त करता है कि वे सभी उसके साथ हैं। अश्विनी साई से बात करने की कोशिश करता है, जबकि बाद में साईं ने अपना दर्द बताते हुए कहा कि वह सिर्फ विराट और उसके पूरे परिवार को खुशी देना चाहती है। वह अपने बच्चे की रक्षा करने में सक्षम नहीं होने के लिए खुद को दोषी ठहराती है, जबकि अश्विनी उसे सांत्वना देने की कोशिश करता है।

साईं विराट को कुछ सोचते हुए देखती है

साईं विराट को कुछ सोचते हुए देखती है और उसका सामना करता है। वह कहती है कि वह समझती है कि वह क्या कर रही है, लेकिन उसे अपनी भावनाओं को उसके साथ साँझा करने के लिए कहें। वह घोषणा करती है कि वह उसे हर किसी से अलग नहीं कर सकती । वह यह कहते हुए रोती है कि उसने अपने बच्चे को अपने गर्भ में ले लिया है और विराट की तरह ही भावनाओं से गुजर रही है।

साईं विराट से आग्रह करती है कि वह उससे न बचें और यह एहसास दिलाये कि उसे इस कठिन समय में उसकी जरूरत है। वह याद करती है कि कैसे उसने उसे बच्चे के बारे में बताया और बताया कि अब वह गर्भवती होने की कल्पना भी नहीं कर सकती। जबकि, उन दोनों को इस बात की झलक मिलती है कि कैसे विराट ने उनके बच्चे के लिए एक नर्सरी का निर्माण किया है।

साई विराट के शब्दों को याद करती है

साईं को याद है कि जब वह गर्भवती थीं तब उन्होंने शिकायत की थी कि उनकी तबीयत ठीक नहीं थी और विराट ने उनकी देखभाल की। वह उसके शब्दों को याद करती है कि वह सबसे अच्छी माँ बनेगी, क्योंकि वह हमेशा दूसरों की मदद करती है और सभी को खुश करती है। उन्होंने यह भी बताया कि साईं अपने बच्चे को हमेशा सच बोलना सिखाएंगे और घोषणा करते हैं कि उन्हें साईं के पालन-पोषण पर पूरा भरोसा है।

साई और विराट अपने खुशी के पलों को याद कर रोते हैं, वहीं वह कोई बहाना बनाकर वहां से चले जाते हैं। साईं उसे रोकती है और बताती है कि उसने उनकी समस्या का कुछ समाधान ढूंढ लिया है। वह विराट को डॉक्टर की सलाह के बारे में याद दिलाती है कि या तो बच्चा गोद लें या सरोगेसी के लिए जाएं। वह सवाल करती हैं कि विराट किस तरह अपने बच्चे को दुनिया में लाना चाहते हैं?

विराट ने साई के सुझाव को मानने से इनकार कर दिया

विराट ने साई के सुझाव को मानने से इनकार कर दिया और इनकार कर दिया। उनका कहना है कि वह अपने बच्चे को उसके बजाय किसी और माध्यम से नहीं लाना चाहते हैं। वह चला जाता है जबकि साई तबाह हो जाता है। इसी बीच पाखी अपना सामान देखती है और इमोशनल हो जाती है। वैशाली पाखी के कमरे के अंदर आती है और उसे भवानी के खिलाफ भड़काती है।

पाखी उग्र हो जाती है

वैशाली का कहना है कि भवानी को पाखी की परवाह नहीं है और इसीलिए सम्राट की मौत के बाद उसे घर से निकाल दिया है। वह फिर पाखी को अपने जीवन में आगे बढ़ने और रोहन के बारे में सूचित करने का सुझाव देती है। वह पाखी को उससे मिलने के लिए कहती है, जबकि पाखी उग्र हो जाती है। वैशाली किसी तरह पाखी को समझाती है और तैयार करती है, वहीं मानसी उसे देखकर चौंक जाती है।

अश्विनी ने साई और विराट के रिश्ते को लेकर अपनी चिंता साझा की। वह कहती है कि विराट अपनी पीड़ा किसी के साथ साँझा नहीं करता है और घोषणा करता है कि इससे उनके बंधन में बाधा आएगी। निनाद ने विराट के साथ बात करने का फैसला किया और कहा कि वह बहुत कुछ कर रहा है। वे दोनों साई और विराट की बेहतरी के लिए प्रार्थना करते हैं।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

ये भी पढ़े : मिथुन चक्रवर्ती बर्थडे : बॉलीवुड का ‘डिस्को डांसर’ आज मना रहा है अपना 72वां बर्थडे

ये भी पढ़े : नेहा भसीन ने शेयर की टॉपलेस फोटोज, सिंगर ने फूलों से कवर की अपनी बॉडी

ये भी पढ़े : अक्षय कुमार की ‘सोरारई पोटरु’ में कैमियो करेंगें सूर्या, एक्टर ने शेयर की पोस्ट

ये भी पढ़े : दो बच्चों के पिता करण जौहर को शादी न करने का है पछतावा, जानें एक्टर ने क्या कहा

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news