कब से शुरू हो रहा है खरमास? जानें खरमास से जुड़ी पौराणिक कथा,खरमास में कौन से काम वर्जित है

(इंडिया न्यूज़, When is Kharmas starting?): साल के अंतिम महीने में खरमास शुरू होने वाला है। कहते है खरमास में कोई भी शुभ कार्य करने की मनाही होती है। इस समय कोई भी मांगलिक कार्य नहीं होते है। कहा जाता है खरमास में सूर्यदेव का प्रभाव कम हो जाता है, इस वजह से खरमास में कोई भी शुभ काम नहीं किया जाता है।

आपको बता दें खरमास साल में दो बार आता है, जिसमें पहला खरमास मार्च के मध्य महीने से लेकर अप्रैल तक रहता है, वहीं साल का दूसरा खरमास दिसंबर के मध्य महीने से लेकर जनवरी मध्य तक रहता है, तो चलिए आज हम आपको बताएंगे कि खरमास शुरु कब से हो रहा है, हमें कौन से काम खरमास में करने से बचना चाहिए।

कब है शुरू हो रहा है खरमास?

सूर्य हर महीने राशि परिवर्तन करते हैं। इस तरह से 12 महीने में 12 राशियों में सूर्य का गोचर होता है। आपको बता दें, हिंदू पंचांग के अनुसार 15 दिसंबर को सूर्य धनु राशि में प्रवेश कर रहे हैं। सूर्य के धनु राशि में गोचर को धनु संक्रांति कहा जाता है। जब 14 जनवरी 2023 को सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे और फिर 15 जनवरी 2023 को मकर संक्रांति मनाने के साथ ही शुभ कार्य शुरू होंगे।

जानें क्या है खरमास की पौराणिक कथा?

पौराणिक कथा के अनुसार खरमास के दौरान सूर्य देवता की घूमने की गति कम होने लगती है, तब सूर्य देवता के घोड़े आराम करते हैं, तब उस दौरान उनके रथ को खर खिंचते हैं। इसी वजह से उस माह को खरमास कहा जाता है।

खरमास के दौरान न करें ये काम

1- खरमास के समय विवाह करना वर्जित होता है। मान्यता के अनुसार इस दौरान कोई भी मांगलिक काम नहीं किए जाते हैं।

2-अगर आप नए घर में प्रवेश करने की सोच रहे हैं, तो आप खरमास से पहले प्रवेश कर लें, नहीं तो फिर खरमास के बाद ही प्रवेश करें।

3-खरमास के दौरान मुंडन उपनयन संस्कार करना वर्जित होता है।

4-अगर आप प्रोपर्टी लेने की सोच रहे हैं, तो खरमास में ना खरीदें कोई प्रोपर्टी।

Latest news
Related news