Basant Panchami: बसंत पंचमी के दिन इन बातों का जरुर रखें ध्यान, इस मंत्र के जाप से पूर्ण फल की होगी प्राप्ती

Basant Panchami 2023 Niyam: बसंत पंचमी (Basant Panchami) पर्व पर विद्या, ज्ञान एवं कला की देवी माता सरस्वती की पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस विशेष दिन पर मां सरस्वती की पूजा करने से सभी भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। साथ ही इस विशेष दिन से शैक्षणिक कार्य और कला के क्षेत्र से जुड़े किसी भी कार्य को शुरू करने से सर्वाधिक लाभ मिलता है।

आपको बता दें कि इस साल बसंत पंचमी पर्व माघ शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि अर्थात 26 जनवरी 2023 के दिन मनाई जाएगी। इस विशेष दिन पर भक्तों को कुछ महत्वपूर्ण बातों और नियमों का ध्यान जरुर रखना चाहिए। जिनका पालन करने से व्रत एवं पूजा का पूर्ण फल प्राप्त होता है।

बसंत पंचमी के दिन इन बातों का रखें ध्यान

  • शास्त्रों में बताया गया है कि इस दिन मां सरस्वती की पूजा के लिए पीला वस्त्र ही धारण करें। क्योंकि पीला रंग माता को बहुत प्रिय है।
  • मां सरस्वती की पूजा के साथ कलम, किताब और किसी वाद्य यंत्र की पूजा अवश्य करें और उनका निरादर भूलकर भी ना करें।
  • बसंत पंचमी के दिन पवित्र स्नान और तर्पण आदि का विशेष महत्व है। इसलिए इस विशेष दिन पर हो सके तो पितृ तर्पण अवश्य करें। ऐसा करने से पितरों की आत्मा को शांति प्राप्त होती है और उन्हें भगवान के चरणों में स्थान मिलता है।
  • बसंत पंचमी के दिन व्यक्ति को भूलकर भी अपशब्द का प्रयोग नहीं करना चाहिए। इस दिन वाद-विवाद से भी दूर रहें।
  • इस विशेष दिन पर व्यक्ति को तामसिक भोजन व शराब का सेवन नहीं करना चाहिए। इस दिन सात्विक भोजन करें और मन में गलत विचार उत्पन्न ना होने दें।

इस मंत्र का करें जाप

बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती के ध्यान मंत्र का जाप अवश्य करें।

या कुन्देन्दु तुषारहार धवला या शुभ्रवस्त्रावृता। या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना।।

या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता। सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा।।

Latest news
Related news