Maha Navami 2022: अष्टमी-नवमी के दिन करें मां भगवती का हवन, जानें साम्रगी

Maha Navami 2022: शारदीय नवरात्रि प्रारंभ हो चुकी हैं। 4 अक्टूबर को नवरात्रि का समापन होगा। 3 अक्टूबर को दुर्गा अष्टमी और 4 अक्टूबर को नवमी है। नवमी पर लोग कन्या पूजन कर अपना व्रत खोलते हैं। नवमी पर मां भगवती को प्रसन्न करने के लिए हवन भी किया जाता है। नवमी पर घरों और मंदिरों में खास पूजा होती है। काफी लोग अष्टमी तिथि पर भी हवन और कन्या पूजन करते हैं। वहीं कई लोग नवमी पर हवन कर कलश हटाते हैं और व्रत को खोलते हैं। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि मां भगवती के हवन में किस-किस सामग्री की आवश्यकता पड़ती है। जानें अष्टमी और नवमी के दिन होने वाले हवन की साम्रगी। साथ ही कन्या पूजन के लिए किस-किस सामान की आवश्यकता पड़ती है।

हवन सामग्री   

हवन कुंड, चंदन की लकड़ी, आम की लकड़ी, नवग्रह की लकड़ी, जौ, कपूर, गूलर की छाल, पंचमेवा, गाय की घी, गोला, अश्वगंधा, पान, अक्षत, शक्कर, लौंग, तिल और इलायची

कन्या पूजन के लिए सामान

पैर साफ करने के लिए कपड़ा, गंगाजल, कलावा, चुनरी, रोली, अक्षत, मिठाई, फल और पुष्प

कन्या भोज में खाना

पूरी

हलवा

चना

आपको बता दें कि आप अपनी इच्छानुसार कोई भी स्वादिष्ट भोजन कन्याओं के लिए परोस सकते हैं। लेकिन साथ में मिठाई रखना न भूलें। कन्यायों को भोज में मीठा अवश्य खिलाएं। जिसके बाद कन्यायों के पैर छूकर उनका आशिर्वाद लें।

Also Read: Navratri Path: नवरात्रि में इस तरह करें सिद्ध कुंचिका स्तोत्रम का पाठ, जानें लाभ और विधि

Also Read: Navratri Totke: नवरात्रि में करें मां लक्ष्मी की साधना, बरसेगी विशेष कृपा

Latest news
Related news