क्या है दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी का कारण ?

इंडिया न्यूज़ | Delhi Big News :  दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को हवाला मामले में ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है। ईडी की इस कार्रवाई से दिल्ली की केजरीवाल सरकार का बड़ा झटका लगा है। उनपर फर्जी कंपनियों के जरिए लेन-देन करने का आरोप है। जानकारी के मुताबिक जैन को पहले हिरासत में लिया गया था। ईडी ने पहले उनसे पूछताछ की और फिर गिरफ्तार कर लिया।

Delhi Health Minister Satyendra Jain
Delhi Health Minister Satyendra Jain

बता दें कि सत्येंद्र जैन केजरीवाल सरकार का प्रमुख चेहरा हैं। हाल ही में ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कार्रवाई करते हुए उनके परिवार से जुड़ी संपत्ति कुर्क की थी। जांच एजेंसी ने उनसे संबंधित यह संपत्ति अकिंचन डिवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, इंडो मेटल इम्पेक्स प्राइवेट लिमिटेड, प्रयास इन्फोसॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड. मंगलायतन प्रोजेक्ट्स, जेजे आइडियल एस्टेट, और जैन के परिवार के सदस्य स्वाति जैन, सुशीला जैन और इंदु जैन से अटैच की।

कवि कुमार विश्वास ने कसा तंज

जैन की गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास ने तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा, जब यह केस पहली बार आया था तो मैंने भरी पीएसी में सत्येंद्र जैन से जवाब माँगा था। बौने ने उसे सपत्नीक मेरे सामने रोने-धोने के लिए बिठाया। मैंने कहा निजी सम्बन्ध अपनी जगह पर इसका जवाब दो,तो आजकल पंजाब का वसूली-प्रमुख बना नया चिंटू कागज फैलाकर बोला सर मैं सीए हूँ, कोई गड़बड़ नहीं है।

अप्रैल में ईडी ने कहा था, पता चला है कि जब सत्येंद्र जैन एक सरकारी अधिकारी थे तब इन कंपनियों के जरिए हवाला रूट से पैसा भेजा गया। इस पैसे का इस्तेमाल दिल्ली में और आसपास जमीन खरीदने में किया गया। दिसंबर 2018 में ही ईडी ने इस मामले में चार्जशीट फाइल कर दी थी। इस साल जनवरी में आम आदमी पार्टी ने दावा किया था कि पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा बदले की भावना से सत्येंद्र जैन कोगिरफ्तार करवा सकती है।

सतेन्द्र जैन पर 8 साल से फर्जी केस चल रहा : सिसोदिया

Manish Sisodia
Manish Sisodia

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन गिरफ्तार हो गए हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोलकाता स्थित कंपनी से जुड़े हवाला की लेन-देन के एक मामले में उन्हें गिरफ्तार किया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सत्येंद्र जैन के खिलाफ 8 साल से एक फर्जी केस चलाया जा रहा है।

अभी तक कई बार ईडी बुला चुकी है। बीच में कई साल ईडी ने बुलाना भी बंद कर दिया था, क्योंकि उन्हें कुछ मिला ही नहीं। अब फिर शुरू कर दिया, क्योंकि सत्येंद्र जैन हिमाचल के इलेक्शन इंचार्ज हैं। हिमाचल में भाजपा बुरी तरह से हार रही है। इसीलिए सत्येंद्र जैन को आज गिरफ्तार किया गया है ताकि वो हिमाचल न जा सकें। वे कुछ दिनों में छूट जाएँगे क्योंकि केस बिलकुल फर्जी है।

ये भी पढ़ें : रणदीप सुरजेवाला के रूप में कांग्रेस को मिलेगा राज्यसभा में प्रखर वक्ता

ये भी पढ़ें : सिविल सेवा परीक्षा 2021 की टॉपर श्रुति शर्मा की पढ़ाई दिल्ली से हुई

ये भी पढ़ें : यूपीएससी टॉपर श्रुति शर्मा कौन हैं, जानिए कैसे पाया पहला स्‍थान

Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest news
Related news