न्याय की आस में दम तोड़ गई दुष्कर्म पीड़िता

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
गत 16 अगस्त को न्याय की उम्मीद लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची दुष्कर्म पीड़िता व उसके दोस्त को नहीं पता था कि वे अपनी जिदंगी के अंतिम दौर से गुजर रहे हैं। 16 अगस्त को जब वे दुष्कर्म की शिकायत देने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे तो उनके पास पूरे कागजात न होने के कारण उन्हें सुप्रीम कोर्ट में दाखिल नहीं होने दिया गया। जिसका नतीजा यह रहा कि काफी समय प्रयास करने के बाद उन्होंने खुद को आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास किया। यह कदम उठाने से पहले युवक फेसबुक पर लाइव हुआ था। आग से झुलसने के बाद दोनों को अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां गत दिनों युवक की मौत हो गई। वहीं जिंदगी की लड़ाई लड़ रही 24 साल की पीड़िता ने भी मंगलवार को दम तोड़ दिया। ज्ञात रहे कि 16 अगस्त की सुबह पीड़िता और उसके पैरोकार सत्यम प्रकाश ने ज्वलनशील पदार्थ छिड़क कर आग लगा ली थी। बता दें कि उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की घोसी लोकसभा सीट से बसपा के सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का केस दर्ज था। सांसद पर कार्रवाई न होने से परेशान पीड़िता सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी। मामले की जांच से जुड़े पुलिस अधिकारी का कहना है कि पीड़िता के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं होने के कारण उसका बयान नहीं लिया जा सका।

Latest news
Related news