वित्त विभाग में सालों से एक ही सीट पर जमें बैठे बाबुओं की कुर्सी को हिलाने की तैयारी शुरू Preparations Started To Move The Chair Of The Babus In The Finance Department

  • अब एक सीट पर एक साल से अधिक के लिए नहीं होगी किसी की तैनाती
  • आफिसों में बिलों के साथ लगने वाले दस्तावेजों की जानकारी लगानी होगी नोटिस बोर्ड पर
  • फाइलों को लटकाने के लिए अब नहीं चलेगा पर छुट्टी पर होने का बहाना
  • किसी कर्मचारी के छुट्टी पर जाने पर किसी दूसरे कर्मचारी को उसकी सीट पर किया जाएगा तैनात
  • बिलों से जुडी फाइलों पर एक ही बार में लगाने होगें सभी तरह के आब्जेक्शन
  • विभाग के अधिकारियों को हर महीने कर्मचारियों के खिलाफ आई शिकायतों की रिपोर्ट करनी होगी तैयार : रोहित रोहिला

इंडिया न्यूज, चंडीगढ़।
Preparations Started To Move The Chair Of The Babus In The Finance Department : पंजाब में आप की सरकार के गठन होने के बाद खुद सीएम भगवंत मान एवं उनके कैबिनेट मंत्री लगातार बडे फैसले ले रहे है। सरकार के वित्त विभाग को लेकर अब वित्त मंत्रालय की ओर से एक अहम फैसला लिया गया है। जिसके बाद अब कोई कर्मचारी किसी फाइल को अपनी मर्जी से दबा कर नहीं बैठे सकेगा और फाइलों का बेवजह एक टेबल से दूसरी टेबल पर घूमने का सिलसिला भी थम जाएगा।

वित्त विभाग के कार्यालयों में सालों से एक ही सीट पर जमे बैठे कर्मचारियों की कुर्सी को हिलाने की भी तैयारी हो चुकी है। अब विभाग में किसी भी कर्मचारी को एक ही पद पर एक साल से अधिक समय के लिए नहीं टिकने दिया जाएगा। यानि अब वित्त विभाग के कार्यालयों में एक सीट पर किसी भी कर्मचारी को एक साल से अधिक समय के लिए तैनाती नहीं दी जाएगी। Preparations Started To Move The Chair Of The Babus In The Finance Department

वित्त विभाग की ओर से उठाए गए इस कदम से विभाग में भ्रष्टाचार पर भी नकेल कसने में मदद मिलेगी। इसके अलावा विभाग की ओर से अपने विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को कुछ और हिदायतें जारी की गई है। जिससे विभाग में काम से आने वाले लोगों और दूसरे कर्मचारियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो। पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल चीमा ने यह दिशा निर्देश जारी किए हैं। विभाग के आफिसों में दूसरे विभागों के कई प्रकार के बिल भी भेजे जाते है।

रिटायर कर्मचारियों के बिलों पर एक ही बार में लगाए जाए आब्जेक्शन Preparations Started To Move The Chair Of The Babus In The Finance Department

वित्त मंत्री द्वारा जारी किए गए निदेर्शों में कहा गया है कि पूर्व कर्मचारियों के बिल पर अगर कोई आब्जेक्शन है तो वह एक ही बार में लगाए जाए। हर बार न आब्जेक्शन के नाम पर फाइल वापस नहीं भेजी जाएगी। इसके साथ साथ आब्जेक्शन क्यों लगाया गया है इसको लेकर नियम का हवाला भी देना होगा। आब्जेक्शन लगाए बिलों की हार्ड कापियां बिना किसी देरी के संबंधित डीडीओ को वापस भेजनी होगी।

हर महीने हेड आफिस रिपोर्ट होगी भेजनी 

वित्त वि•ााग के आफिसों में कोई भी कर्मचारी एक सीट पर एक साल से ज्यादा तैनात नहीं होगा। एक साल बाद उसे बदला जाएगा। हर महीने की 10 तारीख को वित्त विभाग की ओर से रिपोर्ट तैयार कर विभाग के हेड आफिस को भेजनी होगी। विभाग में कई कर्मचारी एक ही सीट पर सालों से जमें बैठे है। ऐसे कर्मचारियों की अब वित्त मंत्री के निदेर्शों के बाद कुर्सी हिलेगी।

कर्मचारियों के खिलाफ आने वाली शिकायतों के बारे में होगा बताना

विभाग के हर आफिस को तैयार की गई रिपोर्ट में यह भी बताना होगा कि एक्स सर्विसमैन के कितने केसों का निपटारा हुआ। आफिसों में काम करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ क्या क्या शिकायतें आई।

शिकायतों पर क्या कार्यवाही की गई। हर महीने वित्त विभाग के आफिसों के अधिकारी अपने स्तर पर •ाी अपने स्टॉफ से मीटिंग कर चर्चा करेंगे कि उन्हें काम करने में क्या क्या दिक्कतें आ रही है ताकि उन्हें दूर किया जा सके।

चेक लिस्ट को नोटिस बोर्ड पर लगाना होाग जरूरी Preparations Started To Move The Chair Of The Babus In The Finance Department

आदेशों में कहा गया है कि बिल संबंधी चेक लिस्ट यानी किस बिल के साथ कौन कौन से दस्तावेज जरूरी है इस की जानकारी नोटिस बोर्डों पर होनी चाहिए। ताकि कर्मचारियों को परेशानी न हो। वित्त वि•ााग की ओर से जारी नई गाइडलाइन की जानकारी भी नोटिस बोर्ड पर लगाई जानी है।

Read More : AAP Targeted BJP : केजरीवाल के घर पर हुए हमले को लेकर पंजाब आप का पारा चढ़ा

अब नहीं चलेगा बहाना कि छुट्टी पर है

वित्त मंत्री ने कर्मचारी समय पर कार्यालय आने के आदेश देते हुए यह भी साफ कर दिया है कि अगर कोई कर्मचारी छुट्टी पर है तो उसकी जगह दूसरा कर्मचारी काम देखे, ताकि विभाग का काम प्रभावित न हो और लोगों को बेवजह की परेशानी नहीं हो। वित्त विभाग के आफिसों में शिकायतों के लिए शिकायत बाक्स लगेंगे।

इसके साथ पूर्व कर्मचारियों की शिकायतों को रजिस्टर पर भी लिखा जाएगा। शिकायत निवारण अफसरों से लेकर दफ्Þतर के अधिकारियों के नंबर नोटिस बोर्ड पर लिखे जाए ताकि कर्मचारी अधिकारियों से संपर्क कर सके।

पहले भी वित्त विभाग चर्चा में रहा 

कांग्रेंस सरकार के समय भी वित्त विभाग काफी चर्चा में रहा था। पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत बादल में सरकारी पैसे को बचाने का हवाला अपने आफिस में चाय और काफी बंद कर दी थी। जोकि काफी चर्चा में रहा था।

अकसर वित्त विभाग के आफिसों में पूर्व कर्मचारियों के कई प्रकार के बिल आते है। जिन पर आब्जेक्शन लगने की वजह से महीनों फाइल एक टेबल से दूसरी टेबल पर घूमती रहती है। वित्त मंत्री के इस फैसले से अब पूर्व कर्मचारियों को राहत मिलेगी Preparations Started To Move The Chair Of The Babus In The Finance Department

Read More :  IPL : आईपीएल में उभरे खिलाड़ियों को एनसीए में पेशेवर ट्रेनिंग दिए जाने की जरूरत : राजकुमार शर्मा

Read More : 12th Paper Leak : यूपी बोर्ड 12वीं का अंग्रेजी का पेपर लीक, डीआइओएस को किया निलंबित

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news