प्रशासन से किसानों की बाचचीत विफल, लघु सचिवालय का किया घेराव

इंडिया न्यूज, करनाल:
28 अगस्त को हुए लाठीचार्ज के विरोध में दिल्ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर किसानों ने महापंचायत कर सरकार और प्रशासन के खिलाफ नई हुंकार भरी। इस दौरान किसानों की प्रशासन से बातचीत विफल हो गई, जिसके बाद किसानों ने लघु सचिवालय की ओर रुख कर लिया। हालांकि प्रशासन की ओर से किसानों को रोकने के हरसंभव प्रयास किए गए लेकिन सभी बैरिकेट्स तोड़ते हुए लघु सचिवालय गेट के बाहर पहुंच गए। किसानों का कहना था कि शांतिपूर्ण ढ़ंग से विरोध जताएंगे। अगर हमें गिरफ्तार किया जाए तो हम तैयार हैं। नमस्ते चौक पर किसानों को रोका गया था। पुलिस प्रशासन उनसे बातचीत करने के बाद गिरफ्तार किया गया। करनाल के डीसी और एसपी भी बातचीत करने पहुंचे थे। इसके बाद किसान आगे बढ़ गए। घेराव को निकले किसानों ने रास्ते में आए सभी नाके हटाते हुए आगे बढ़े। वहीं पुलिस ने हिरासत में लिए गए किसानों को भी छोड़ दिया है। किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता इस घेराव को सफल बनाना है। किसान जिला सचिवालय को घेरने पहुंच चुके हैं। अब यहां सभी को शांति से बैठाकर अगली रणनीति तय की जाएगी। इस दौरान किसी तरह की अनहोने रोकने के लिए पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स भी मौजूद रही।

SHARE
Latest news
Related news