लोकतंत्र हमारा मूल स्वभाव : शाह

केंद्री गृह मंत्री ने पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के 51वें स्थापना दिवस पर किया संबोधित
इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
लोकतंत्र हमारा मूल स्वभाव है। अगर देश में कानून-व्यवस्था अच्छी नहीं है, तो लोकतंत्र सफल नहीं हो सकता। हमें अपने देश में लोकतंत्र को और भी ज्यादा मजबूत बनाने की जरूरत है ताकि सभी के अधिकारों की सुरक्षा की जा सके। यह बाते केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के 51वें स्थापना दिवस को संबोधित करते हुए कही। गृह मंत्री ने कहा कि यदि कोई कहता है कि हमारे देश में लोकतंत्र 1950 में संविधान लागू होने के साथ आया तो यह गलत होगा। बल्कि लोकतंत्र तो हमारे देश में सदियों से बसा है। यह तो भारत की आत्मा है। ंइस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पुलिस व्यवस्था के निचले स्तर पर तैनात बीट कांस्टेबल लोकतंत्र को सफल बनाने में सबसे ज्यादा भूमिका निभाने वाला सिपाही है। उसकी भूमिका सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण बन जाती है। केंद्रीय गृह मंत्री ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश को आंतरिक और बाहरी परिस्थितियों से दो चार होना पड़ता है। पड़ौसी देशों से लगातार चौकसी बरतनी पड़ रही है। शाह ने कहा कि अगला दशक आंतरिक सुरक्षा की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि गांवों में पहले भी पंच परमेश्वर हुआ करते थे। इसलिए लोकतंत्र हमारे देश का स्वभाव रहा है।

Latest news
Related news