श्रीकांत त्यागी मामले में पॉश ग्रांड ओमैक्स सोसायटी से हिरासत में लिए 6 युवक, बोले-त्यागी की पत्नी के रिश्तेदार

इंडिया न्यूज, Noida News। Shrikant Tyagi Case : नोएडा की पॉश ग्रांड ओमैक्स सोसायटी में महिला से अभद्रता मामला रविवार को उस समय फिर से गर्मा गया जब सोसायटी में शाम करीब 8 बजे कुछ युवक घुस आए। इस दौरान जमकर बवाल भी हुआ। इसी बीच सूचना सोसायटी वासियों ने पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और 6-7 लड़कों को हिरासत में ले लिया।

आरोपियों ने खुद को श्रीकांत त्यागी की पत्नी के रिश्तेदार बताया। अभी पुलिस सभी पूछताछ कर रही है। गौतमबुद्ध नगर के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा भी मौके पर पहुंच गए हैं।

युवकों पर पथराव का आरोप

आपको बता दें कि आरोपी श्रीकांत त्यागी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। सोसायटी निवासियों का आरोप है कि सभी लड़के अपने साथ लाठी-डंडे लेकर आए थे।

उन्होंने सोसायटी में पथराव भी किया। सोसायटी के लोगों ने इकट्ठा होकर जमकर हंगामा किया। बाद में पुलिस ने समझा-बुझाकर मामला शांत किया।

हालांकि पुलिस ने किसी भी तरह के पथराव से इनकार किया है। वहीं पकड़े गए युवकों का कहना है कि वीडियो की जांच करवा लीजिए, कहीं किसी से बदतमीजी या झगड़ा कुछ नहीं हुआ है।

पुलिस ने नकारे पथराव के आरोप

नोएडा पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पकड़े गए बाहरी लोग श्रीकांत की पत्नी के रिश्तेदार हैं, जो उनका हाल चाल लेने पहुंचे थे।

सोसायटी के लोगों ने अंदर आने से रोका तो बवाल हुआ था। पकड़े गए 6 से 7 लड़कों से पुलिस पूछताछ कर रही है। कोई पथराव नहीं हुआ और न कोई झड़प हुई है।

सांसद डॉ महेश शर्मा भी पहुंचे सोसायटी

घटना की सूचना मिलते ही सांसद डॉ महेश शर्मा भी ग्रैंड ओमैक्स सोसायटी में पहुंचे और लोगों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज जो घटना हुई, उसके लिए शर्मिंदा हूं। मैं गृहमंत्री जी और मुख्यमंत्री जी से मांग करता हूं कि अधिकारियों के खिलाफ भी एक्शन लिया जाए। आखिर अब तक त्यागी को पकड़ने में देरी क्यों हो रही है।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

ये भी पढ़े : पटनीटॉप पहुंचा ‘द ग्रेट इंडिया रन’, धावकों ने कुल 170 किमी की दूरी तय की

ये भी पढ़े : बिना भेदभाव निस्वार्थ की जाएगी जनता की सेवा : सांसद कार्तिकेय शर्मा

ये भी पढ़े : युद्ध की ओर बढ़ रहे चीन के कदम, 100 से अधिक लड़ाकू और वाईयू-20 जैट किए तैनात, अमेरिका ने दी यह प्रतिक्रया…

ये भी पढ़े : आखिर क्यों ISRO ने अपने ही सैटलाइट को बताया यूजलेस, क्यों सर्कुलर की बजाय एलिप्टिकल ऑर्बिट में पहुंच गया SSLV-D1?

Latest news
Related news