लीक वीडियो मामले पर छात्राओं के प्रदर्शन को लेकर पंजाब पुलिस का शर्मनाक बयान, प्रदर्शन को बताया मजाक

Chandigarh University Viral Video:

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी MMS कांड सुर्खियों में है। बता दें इस मामले में अब पुलिस पर भी सवील उठ रहे हैं। दरअसल यूनिवर्सिटी के छात्रों का आरोप है कि पुलिस मामले को दबाने की कोशिश कर रही है।आरोप है कि पुलिस पीड़ित लड़कियों को किसी से मिलने नहीं दे रही है। इतना ही नहीं मोहाली के एसपी ने कुछ ऐसा बयान दे दिया जिसे सुनने के बाद हंगामा मच गया बता दें मोहाली के एसपी का कहना है कि छात्र मज़े के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं और लड़कियां कमजोर होती हैं।

मोहाली एसपी ने कही ये बात

जहां MMS कांड को लेकर छात्र लगातार प्रदर्शन रहे हैं। वहीं मोहाली के एसपी ग्रामीण नवरीत विर्क ने छात्राओं के प्रदर्शन को मज़ाक करार दिया। एसपी के मुताबिक छात्र एनजॉयमेंट के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने अपने बयान में कहा, “कोई बात जिसका मेरे पास जवाब न तो मुझे बताओ तो ये लोग बात नहीं करते आगे निकल जाते हैं। जो बातें ये बोल रहे हैं, उसका इनके पास कोई सबूत नहीं है। ये जो बोल रहे हैं कि ऊपर से लड़कियों को नहीं आने दे रहे हैं वो सब बेबुनियादी बातें हैं। मुझे तो लगता है कि ये लोग प्रदर्शन को एन्जॉय कर रहे हैं।”

किसी ने नहीं की आत्महत्या

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में बाथरूम में 60 लड़कियों के वीडियो बनाने के आरोप का मामला सुलझने की बजाय उलझता ही जा रहा है। पुलिस का दावा है कि यूनिवर्सिटी की किसी भी छात्रा ने आत्महत्या की कोशिश नहीं की है। पुलिस इसे प्रदर्शन के दौरान गर्मी की वजह से छात्राओं के बेहोश होने की मामूली घटना बता रही है। लेकिन यूनिवर्सिटी के छात्रों का आरोप है कि पीड़ित छात्राओं पर दबाव डालकर बयान बदलवाया गया है।

 

ये भी पढ़ें – मानसून सत्र से पहले मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात

Latest news
Related news