Bharat Jodo Yatra: कांग्रेस के पोस्टर पर दिखी वीर सावरकर की फोटो, भाजपा ने कसा राहुल गांधी पर तंज

Bharat Jodo Yatra: Veer Savarkar's photo seen on Congress Poster, BJP took a jibe at Rahul Gandhi

Bharat Jodo Yatra: कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों 3,500 किलोमीटर लंबी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ पर हैं। उनकी यह यात्रा काफी सुर्खियों में बनी हुई है। एक बार फिर इस यात्रा की चर्चा तेज हो गई है। कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ आज गुरुवार को कोच्चि पहुंच रही है। कोच्चि में इसके स्वागत के लिए जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं। इन पोस्टर्स में स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीर लगाई गई है। बता दें कि पोस्टर में एक तस्वीर वीर सावरकर की भी थी। जब कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इसकी जानकारी हुई तो आनन-फानन में सावरकर की तस्वीर की जगह गांधी जी की तस्वीर चस्पा दी गई।

आनन-फानन लगाया गांधी जी का पोस्टर  

आपको बता दें कि आज कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा कोच्चि पहुंच रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी यहां पर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे। ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के स्वागत के लिए बड़े-बड़े बैनर लगाए गए हैं। बता दें कि एक बैनर में चंद्रशेखर आजाद और गोविंद बल्लभ पंत की तस्वीर के बीच में विनायक दामोदर सावरकर की तस्वीर भी लगी हुई थी। कांग्रेसियों को इसका पता चलते ही सावरकर की तस्वीर के ऊपर गांधी जी का पोस्टर लगा दिया गया। इस बैनर के तस्वीर और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

भाजपा-आरएसएस ने जानबूझकर किया- सुरेश

कांग्रेस की तरफ से इस मामले को लेकर ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के संयोजक के सुरेश ने कहा है कि “मुझे लगता है कि जिस व्यक्ति ने यह बैनर प्रिंट किया है वो भाजपा या आरएसएस का रहा होगा और उसने यह जानबूझकर किया है। कांग्रेस कार्यकर्ता बैनर पर सावरकर की तस्वीर लगाने के लिए कभी नहीं कहेगा। हम इसकी जांच करेंगे। हमारे नेतृत्व ने इस मामले पर तुरंत एक्शन लिया है और यहां के स्थानीय नेता को सस्पेंड कर दिया है।”

अमित मालवीय ने कसा कांग्रेस पर तंज

वहीं भाजपा ने इस मामले को लेकर राहुल गांधी पर तंज कसा है। भारत जोड़ो यात्रा की इस फोटो को भारतीय जनता पार्टी की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने शेयर करते हुए लिखा है कि “एर्नाकुलम में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में वीर सावरकर की तस्वीर भी है। देर से ही सही, राहुल गांधी के लिए ये अच्छा रियलाइजेशन है, जिनके परनाना नेहरू ने पंजाब के नाभा जेल से सिर्फ दो हफ्ते में ही बाहर आने के लिए अंग्रेजों से गुहार लगाई थी और एक दया याचिका पर हस्ताक्षर किए थे।”

Also Read: राहुल गांधी के पोस्ट ने बढ़ाई अध्यक्ष पद की अटकलें, लिखा- ‘जब नाव बीच मझधार में फंस जाए तब…’

Also Read: Chandigarh University MMS Case: वीडियो कांड में एक और खुलासा, आरोपी छात्रा को ब्लैकमेल कर रहा था सेना का जवान

Latest news
Related news