फेड ने बढ़ाई ब्याज दरें, रुपये की वैल्यू गिरी, आया अब तक के सबसे निचले स्तर पर

इंडिया न्यज, Rupees At Record Low Level : विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया अब तक के सबसे निचले स्तर पर चला गया है। आज डॉलर के मुकाबले रुपया 40 पैसे की कमजोरी के साथ 80.37 रुपये के स्तर पर खुला। अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने महंगाई पर कंट्रोल करने के लिए ब्याज दरें 0.75 फीसदी बढ़ाने की घोषणा की है। लगातार तीसरी बार वृद्धि के बाद बैंक का बेंचमार्क फंड दर बढ़कर 3 प्रतिशत से 3.25 प्रतिशत तक हो गया है।

वहीं 2023 तक ब्याज दरें 4.6 फीसदी तक जा सकती है। इसका असर न केवल शेयर बाजारों पर पड़ा है बल्कि करंसी पर भी इसका असर देखने को मिला है। बता दें कि शेयर बाजार में आज गिरावट का माहौल है। सेंसेक्स 450 अंकों की गिरावट के साथ 59000 पर आ गया है जबकि निफ्टी भी 140 अंकों की फिसलन के साथ 17580 पर है।

आखिरी पिछले 5 दिनों में कैसा रहा रुपये का क्लोजिंग लेवल

बीते दिन बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 22 पैसे की कमजोरी के साथ 79.97 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था। इससे पहले मंगलवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 2 पैसे की मजबूती के साथ 79.75 रुपये के स्तर पर बंद हुआ। इससे पहले सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 3 पैसे की कमजोरी के साथ 79.77 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं शुक्रवार को रुपये में 4 पैसे की कमजोरी आई थी और यह 79.74 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था। वीरवार डॉलर के मुकाबले रुपये में 26 पैसे की बड़ी कमजोरी आई थी और यह 79.70 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।

डॉलर महंगा होने पर क्या असर होता है

डॉलर महंगा या सस्ता होने पर देश के आयात पर सीधा असर करता है। जैसे कि भारत अपनी जरूरत का लगभग 80 फीसदी क्रूड आयल आयात करता है। इसका भुगतान डॉलर में करना होता है। यदि डॉलर महंगा होता है तो हमें ज्यादा कीमत देनी पड़ती है। भारत को काफी ज्यादा खर्च करना पड़ता है। इससे देश के विदेशी मुद्रा भंडार पर दबाव बनाता है और इस कारण रुपये की कीमत भी प्रभावित होती है। वहीं यदि डॉलर सस्ता होता है तो खर्चा कम होता है। इससे राहत मिलती है। प्रतिदिन डॉलर में उतार चढ़ाव के कारण रुपये की स्थिति बदलती रहती है।

ये भी पढ़ें : ADB ने घटाया भारत में जीडीपी ग्रोथ अनुमान, 7.2 की बजाय अब 7 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान

ये भी पढ़ें : मुफ्त में हवाई यात्रा करने का मौका, 25 सितम्बर तक बुक करवाएं टिकट

ये भी पढ़ें : अमेरिकी फेडरल रिजर्व के फैसले से तय होगी शेयर बाजार की चाल

ये भी पढ़ें : 22 सितम्बर से बंद हो जाएगा ये बैंक, फटाफट निकाल लें अपनी रकम

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news