3 रुपए के हिसाब से खरीदे 6 करोड़ शेयर, आज है 2471 रुपए का, किस शेयर ने राकेश झुनझुनवाला को बनाया बाजार का बिग बुल

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली (Rakesh Jhunjhunwala Portfolio): भारत के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला को आज पूरा देश याद कर रहा है। महान शख्यिसत ने अपनी पहचान ही कुछ इस तरह बनाई है जिसको फॉलो करते करते अन्य हजारों लोग भी करोड़पति जो बने हैं।

37 साल पहले 1985 में जब सेंसेक्स 150 पर था, तब पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट राकेश झुनझुनवाला ने 5000 रुपए से निवेश की शुरूआत की थी और आज अपने पीछे लगभग 46 हजार करोड़ की संपत्ति छोड़ गए हैं। आखिर कैसे उन्होंने लगातार कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ी, कैसे उतार चढ़ाव में भी संयम बरता और किन शेयरों ने राकेश झुनझुनवाला की किस्मत चमकाई? आइए जानते हैं विस्तार से

टाटा का रहा है खास योगदान

सबसे पहले राकेश झुनझुनवाला ने 1985 में टाटा टी के शेयर खरीदे थे। उन्होंने 43 रुपए के भाव पर 5000 रुपए के शेयर खरीदे थे। तीन महीने में ही टाटा टी का शेयर काफी चढ़ गया। इसके बाद झुनझुनवाला ने 143 रुपए का बेच दिया था।

इस शेयर ने बनाया बाजार का बिग बुल

Rakesh

1986-87 में ही उनकी गिनती करोड़पतियों में होने लगी थी। इन 3 सालों में उन्होंने लगभग ढाई करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया। इसके बाद टाटा ग्रुप की ही एक अन्य कंपनी ने झुनझुनवाला को बाजार का बिग बुल बना दिया। साल 2003 में राकेश ने टाटा समूह की कंपनी टाइटन पर दांव खेला। उन्होंने 3 रुपये के हिसाब से टाइटन के 6 करोड़ शेयर खरीदे। एक समय झुनझुनवाला के पास टाइटन के करीब 4.5 करोड़ शेयर हो गए, जिनकी वैल्यू 7000 करोड़ रुपए से अधिक हो गई। आज भी टाइटन का शेयर 2471 रुपए के भाव पर है।

अभी इन कंपनियों में है झुनझुनवाला की हिस्सेदारी

आज भी राकेश झुनझुनवाला के पास कई बड़ी कंपनियों की हिस्सेदारी है। इनमें टाटा मोटर्स, टाटा कम्युनिकेशंस, टाइटन कंपनी, ल्यूपिन, सेल, इंडियन होटल्स, इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस, टीवी18, डीबी रियल्टी, फेडरल बैंक, करुर वैश्य बैंक, एस्कॉर्ट्स लिमिटेड, एमसीएक्स जैसी कंपनियां शामिल हैं।

राकेश झुनझुनवाला की निवेश शैली?

Rakesh Jhunjhunwala

राकेश झुनझुनवाला की शैली ऐसी है कि पहले निवेश करो फिर जांचो। उनका मानना था कि कभी कभी बाजार हमें इस तरह से पैसे कमाई करने का मौका देता है जहां आपको पहले क्षण में ही स्टॉक को खरीद लेना होता है और उसकी जांच बाद में करनी होती है। Dewan Housing और Lupin में निवेश करना उनकी इसी निवेश शैली का हिस्सा है ।

निवेश से इन 4 कारकों का करें विश्लेषण

इसके अलावा उनका मानना है कि किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले उसके चार कारकों उत्पाद की मांग, उद्यमिता, आवश्यक कैपिटल, शेयरों की कीमत का विश्लेषण कर लेना चाहिए। उनके द्वारा किये जाने वाले अधिकतर निवेश भारत केन्द्रित कंपनियों में होते हैं, जिससे यह पता चलता है कि वे मानते हैं कि देश बढ़ेगा तो वे भी बढ़ेंगे।

पहले ही क्षण में कैसे खरीदे शेयर

Rakesh Jhunjhunwala and PM Modi

एक इंटरव्यू के दौरान उनके दिए गए वक्तव्य से भी उनकी यही शैली निवेश पहले, जांच बाद में उजागर होती है। उन्होंने कहा था कि किसी खूबसूरत लड़की के प्रपोजल पर हर कोई उससे डेटिंग करना चाहेगा न कि परिणामों के बारे में सोचेगा। ठीक इसी प्रकार पहले क्षण में ही जिसमे आपको लगता है कि यह स्टॉक आपकी कमाई करवा सकता है उसे खरीद लेना चाहिए और जांच परख बाद में।

ये भी पढ़ें : अद्भुत है राकेश झुनझुनवाला की कहानी, 5000 रुपए से खड़ा कर दिया 46 हजार करोड़ का एम्पायर

ये भी पढ़ें : ढाई महीने बाद आया आईपीओ, सिरमा एसजीएस टेक्नोलॉजी में निवेश करें या नहीं

ये भी पढ़ें : 2023 से बाजार में नहीं दिखेगा जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर, जानिए इसकी बड़ी वजह

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news