क्या थी राकेश झुनझुनवाला की निवेश शैली, जिससे बनाया 46 हजार करोड़ का साम्राज्य

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली (Rakesh Jhunjhunwala): राकेश झुनझुनवाला को आज पीएम मोदी समेत देश के हजारों लोग, खासतौर पर शेयर बाजार में निवेश करने वाले निवेशक श्रद्धांजलि दे रहे हैं। शेयर बाजार के बिग बुल और भारत के वारेन बॉफेट के नाम से मशहूर राकेश झुनझुनवाला अपने पीछे 46 हजार करोड़ का साम्राज्य छोड़ गए हैं।

37 साल पहले 1985 में जब सेंसेक्स 150 पर था, तब राकेश झुनझुनवाला ने 5000 रुपए से निवेश की शुरूआत की थी। इसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। हालांकि ऐसा नहीं है कि उन्हें कभी नुकसान न हुआ हो। लेकिन धैर्य शब्द शेयर बाजार के निवेशकों के लिए बहुत मान्य होता है। इसी धैर्य के वे गुणी थी। जब भी बाजार में उतार चढ़ाव आता तो वे धैर्य से काम लेते थे। इसी की बदौलत वे इतने महान शख्स बन गए।

इसी के मद्देनजर आज हम आपको बता रहे हैं क्या थी राकेश झुनझुनवाला की निवेश शैली?

राकेश झुनझुनवाला की शैली ऐसी है कि पहले निवेश करो फिर जांचो। उनका मानना था कि कभी कभी बाजार हमें इस तरह से पैसे कमाई करने का मौका देता है जहां आपको पहले क्षण में ही स्टॉक को खरीद लेना होता है और उसकी जांच बाद में करनी होती है। ऊी६ंल्ल ऌङ्म४२्रल्लॅ और छ४स्र्रल्ल में निवेश करना उनकी इसी निवेश शैली का हिस्सा है ।

निवेश से इन 4 कारकों का करें विश्लेषण

Rakesh

इसके अलावा उनका मानना है कि किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले उसके चार कारकों उत्पाद की मांग, उद्यमिता, आवश्यक कैपिटल, शेयरों की कीमत का विश्लेषण कर लेना चाहिए । उनके द्वारा किये जाने वाले अधिकतर निवेश भारत केन्द्रित कंपनियों में होते हैं, जिससे यह पता चलता है कि वे मानते हैं कि देश बढ़ेगा तो वे भी बढ़ेंगे।

पहले ही क्षण में कैसे खरीदे शेयर

Rakesh Jhunjhunwala Net Worth

एक इंटरव्यू के दौरान उनके दिए गए वक्तव्य से भी उनकी यही शैली ह्ण निवेश पहले, जांच बाद में उजागर होती है। उन्होंने कहा था कि किसी खूबसूरत लड़की के प्रपोजल पर हर कोई उससे डेटिंग करना चाहेगा न कि परिणामों के बारे में सोचेगा। ठीक इसी प्रकार पहले क्षण में ही जिसमे आपको लगता है कि यह स्टॉक आपकी कमाई करवा सकता है उसे खरीद लेना चाहिए और जांच परख बाद में ।

अप्रचलित कंपनियों को नजरंदाज न करें

राकेश झुनझुनवाला का यह भी मानना रहा है कि स्टॉक मार्किट में अप्रचलित कंपनियों को हमें नजरंदाज नहीं करना चाहिए, बल्कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह होती है की आपने स्टॉक को कितने सस्ते में खरीदा साथ में वह यह भी कहते हैं की निवेश करने वाले व्यक्ति को अपने लालच एवं पैसे खोने के डर में सही संतुलन करना बेहद जरुरी है।

ये भी पढ़ें : अद्भुत है राकेश झुनझुनवाला की कहानी, 5000 रुपए से खड़ा कर दिया 46 हजार करोड़ का एम्पायर

ये भी पढ़ें : ढाई महीने बाद आया आईपीओ, सिरमा एसजीएस टेक्नोलॉजी में निवेश करें या नहीं

ये भी पढ़ें : 2023 से बाजार में नहीं दिखेगा जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर, जानिए इसकी बड़ी वजह

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news