दुनिया के अमीरों में गौतम अडाणी का बजा डंका, बने दूसरे सबसे अमीर शख्स

इंडिया न्यूज, Second Richest Person in World : भारत के दिग्गज कारोबारी एवं अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने एक बार फिर से दुनिया के सबसे अमीर लोगों में अपना डंका बजाया है। वे अब दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। उन्होंने एक महीने से भी कम समय में एक और अरबपति को पीछे छोड़ दिया है।

फोर्ब्स रियल टाइम बिलेनियर्स के अनुसार, भारत के गौतम अडाणी की कुल संपत्ति 155.5 अरब डॉलर हो गई है, जिसके साथ वह उन्होंने सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में दूसरे नंबर का पायदान हासिल कर लिया है। गौतम अडाणी ने फ्रांसीसी व्यवसायी बर्नार्ड अरनॉल्ट को भी पछाड़ दिया है। हालांकि, ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स के मुताबिक, वे 149 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ अब भी विश्व के तीसरे सबसे रईस शख्स हैं।

Gautam Adani

तीसरे नंबर पर बर्नार्ड अर्नाल्ट

जानकारी के मुताबिक आज दोपहर तक अडानी की दौलत में कुल 5.5 अरब डॉलर का इजाफा हो चुका था। अब वह 155.5 अरब डॉलर के साथ दुनिया के अरबपति नंबर दो हो गए हैं। उनसे आगे अब सिर्फ एलन मस्क हैं। एलन मस्क की संपत्ति 273.5 अरब डॉलर है। अडानी के बाद तीसरे नंबर पर बर्नार्ड अर्नाल्ट 155.2 अरब डॉलर के नेटवर्थ के साथ तीसरे नंबर पर हैं। वहीं रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी की बात करें तो वो इस लिस्ट में 92.6 अरब डॉलर के साथ आठवें नंबर पर हैं।

30 अगस्त को लुइस विटॉन को पीछे छोड़ा

शीर्ष दस सूची में अन्य अरबपतियों में बिल गेट्स, लैरी एलिसन, वॉरेन बफेट, लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन शामिल हैं। गौतम अडानी 30 अगस्त को लुइस विटॉन के बॉस अरनॉल्ट को पीछे छोड़ते हुए दुनिया के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए थे। यह पहला मौका था, जब किसी एशियाई को शीर्ष तीन अरबपतियों में स्थान दिया गया था और अब वो दुनिया के दूसरे सबसे अमीर बन गए हैं।

अडानी की कंपनियां तलाश रही विदेशी अधिग्रहण

ब्लूमबर्ग ने बताया कि गौतम अडानी समूह की किचन एसेंशियल फर्म अडानी विल्मर लिमिटेड अब अपने खाद्य संचालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय और विदेशी अधिग्रहण लक्ष्यों की तलाश कर रही है। फरवरी में 486 मिलियन डॉलर की शुरूआत के बाद से खाद्य कंपनी के शेयर तीन गुना से अधिक हो गए हैं।

दरअसल, कंपनी अपने उपभोक्ता वस्तुओं की पेशकश और पहुंच को बढ़ावा देने के लिए मुख्य खाद्य पदार्थों और वितरण कंपनियों में ब्रांडों का अधिग्रहण करना चाह रही है। हाल ही में अडानी विल्मर ने खरीद के लिए अपनी आरंभिक सार्वजनिक पेशकश से 500 करोड़ रुपये निर्धारित किए हैं। बताया गया है कि अतिरिक्त धन आंतरिक स्रोतों से जुटाया जाएगा और अप्रैल से शुरू होने वाले अगले साल के लिए प्लान्ड कैपिटल एक्सपेंडिटर 30 अरब रुपये होंगे।

सार्वजनिक हिस्सेदारी से सबसे ज्यादा इनकम

हालांकि अडानी की ज्यादातर इनकम अडानी समूह के पास सार्वजनिक हिस्सेदारी से होती है। मार्च 2022 स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग के अनुसार, अडानी इंटरप्राइजेज, अडानी पावर और अडानी ट्रांसमिशन में उनके पास 75 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वह अडानी टोटल गैस का लगभग 37 प्रतिशत, अडानी पोर्ट्स और विशेष आर्थिक क्षेत्र का 65 प्रतिशत और अडानी ग्रीन एनर्जी का 61 प्रतिशत मालिक हैं। बता दें कि ये कंपनियां सार्वजनिक रूप से कारोबार करती हैं और अहमदाबाद में स्थित हैं।

Adani Group

हर हफ्ते 6000 करोड़ की कमाई

जानना जरूरी है कि हुरुन इंडिया रिच लिस्ट ने सितंबर 2021 में उल्लेख किया था कि गौतम अडानी ने 2021 में हर सप्ताह लगभग 6000 करोड़ रुपये अपनी संपत्ति में जोड़कर पूरी दुनिया में सबसे अधिक 49 बिलियन डॉलर कमाए। वहीं अगर 2022 की बात की जाए तो अडानी ने 30 अगस्त तक अपनी संपत्ति में 60.9 अरब डॉलर जोड़ लिए थे।

हाल ही में हुई कुछ महत्वपूर्ण डील्स

बीते मई 2021 में अडानी ग्रीन ने सॉफ्टबैंक के साथ अपने अक्षय ऊर्जा कारोबार को 3.5 बिलियन डॉलर (26,000 करोड़ रुपये) में खरीदने के लिए एक डील की थी। इसे भारत के रिन्यूएबल सेक्टर के इतिहास में सबसे बड़ी डील माना जाता है। उनका नवीनतम स्टॉक मार्केट डेब्यू, अदानी विल्मर, सिंगापुर के विल्मर इंटरनेशनल के साथ 50:50 का उद्यम है, जो एशिया की सबसे बड़ी कृषि व्यवसाय कंपनियों में से एक है।

इस बीच अडानी का एनडीटीवी में हिस्सेदारी का अधिग्रहण भी काफी सुर्खियों में रहा है।। पिछले हफ्ते, अदानी समूह ने वीसीपीएल के अधिग्रहण के माध्यम से एनडीटीवी में 29.18% हिस्सेदारी हासिल करने की घोषणा की थी, जिसकी मीडिया समूह की प्रमोटर इकाई आरआरपीआर होल्डिंग में 99.99% हिस्सेदारी है।

सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली 7 कंपनियां

अडानी ग्रुप में सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली 7 कंपनियां शामिल हैं। इनमें से कुछ की मार्केट कैपिटल 2 साल में 1,000 फीसदी से अधिक हो चुकी हैं। अडानी ग्रीन और अडानी टोटल गैस के शेयर 1,000 फीसदी से अधिक बढ़ गए हैं। वहीं अडानी एंटरप्राइजेज 2020 के बाद से 1,400 फीसदी से अधिक बढ़े हैं। अदानी ट्रांसमिशन ने 1,000 फीसदी से अधिक और अदानी ने छलांग लगाई है वहीं इसी अवधि के दौरान अडानी पोर्ट ने 120 फीसदी की छलांग लगाई।

ये भी पढ़ें : तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक की स्टॉक मार्केट पर लिस्टिंग कमजोर

ये भी पढ़ें : 700 अंकों की गिरावट के साथ सेंसेक्स फिर से 60 हजार के नीचे, आईटी शेयरों में बिकवाली से बढ़ा दबाव

ये भी पढ़ें : 22 सितम्बर से बंद हो जाएगा ये बैंक, फटाफट निकाल लें अपनी रकम

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news