KBC में खुला Amitabh Bachchan कि जिंदगी के एक राज से पर्दा, जीमन पर बैठकर देखनी पड़ती थी फिल्म

लोगों को ऊचांइयों तक पहुंचाने वाले रियलिटी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति 14’ हर घर में बेहद पसंद किया जाता है। शो में हर दिन कुछ न कुछ मजेदार देखने को मिल ही जाता है। सोमवार को शो के सेट पर फिल्म ‘ऊचांई’ की टीम पहुंची थी, बोमर ईरानी, अनुपम खेर, और नीना गुप्ता, अमिताभ सब ने मिलकर शो में पुराने दिनों का याद किया, एपिसोड काफी मजेदार रहा।

बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन काफी वक्त से टीवी के रियलिटी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति 14’ को होस्ट कर रहे है. अमिताभ अपनी सिंपलिसिटी के लिए जाने जाते है. उनके फैंस को उनका यही अंदाज बेहाद पसंद आता है। वहीं ‘कौन बनेगा करोड़पति 14’ (Kaun Banega Crorepati 14) में अमिताभ बच्चन ने एक बार फिर अपने फैंस का दिल जीत लिया. बता दें कि सोमवार को शो के सेट पर फिल्म ऊंचाइयों कि टीम पहुंची और खूब धमाल मचाया । उसी दौरान बोमन ईरानी, अनुपम खेर और नीना गुप्ता संग अमिताभ ने बातचीत करते हुए अपने पुराने दिनों को भी याद किया। शो में सबसे सवाल करने वाले अमिताभ बच्चन से एक्ट्रेस नीना गुप्ता ने कई सवाल किए तो बिग बी ने भी काफी मजेदार जवाब दिए।

अभिताभ की जिंदगी के वो दिन

शो में मस्ती के दौरान अभिताभ बच्चन ने अपनी जिंदगी के कई राज खोले, जिसके सामने आने के बाद बिग बी के फैंस उनके दिवाने हो गए. बता दें कि शो के होस्ट अभिताभ बच्चन जिस कुर्सी पर बैठ कर लोगों को ऊचाईयों तक पहुंचते है इस बार ऊचाइयों कि टीम की नीना गुप्ता ने बिग बी से कई सवाल किए.नीना ने बिग बी से पूछा अगर आपको अपनी जिंदगी में कोई एक चीज बदलने का मौका मिले, तो आप क्या बदलना चाहेंगे?

इसपर बिग बी ने काफी दिलचस्प जवाब दिया। बिग बी ने कहा कि वह अपनी जिंदगी में कुछ भी बदलना नहीं चाहेंगे। उन्होंने कहा कि बजाए कुछ भी बदलने के उनकी जिंदगी में जो कुछ भी रहा है उसे ही वह दोबारा एक बार जीना चाहेंगे। अमिताभ बच्चन ने बताया कि उनकी जिंदगी में जो कुछ भी अच्छी-बुरी चीजें रही हैं, उनसे उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिला है और उन्हें लगता है कि वह उन्हीं चीजों की वजह से आज इस मुकाम तक पहुंच पाए हैं। अमिताभ बच्चन के इस जवाब ने उनके फैंस को उनका मुरीद बना दिया.

 

जमीन पर बैठकर अभिताभ देखते थे फिल्म

आगे अमिताभ बच्चन ने अपनी हॉस्टल लाइफ के बारे में भी बताया। बिग बी ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए, कई बड़ी बाते बताई, वो बताते हैं कि हॉस्टल के दिनों में उनके पास कम पैसे हुआ करते थे, लेकिन उनका फिल्मों के लिए प्यार कहे या जूनुन जो पैसे न होने पर भी उन्हें देखने को मिला, उन्होनें बताया कि इसी प्यार और जूनुन के चलते वह सिनेमा हॉल के सेक्रेटरी को रिक्वेस्ट किया करते थे कि उन्हें फिल्म देखने दें। सिनेमा हॉल में फिल्म देखने के लिए, जब उनके पास पैसे नहीं होते थे, तो वो बिना टिकट के जमीन पर बैठकर फिल्म देखा करते थे।

Latest news
Related news