UP Global Investors Summit: निवेशकों को भावपूर्ण आमंत्रण के साथ योगी ने किया ‘नए भारत के नए उत्तर प्रदेश का शंखनाद’

इंडिया न्यूज़ (दिल्ली) : राजधानी दिल्ली में आज ‘यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023’ का लोगो जारी किया गया। दिल्ली के सुषमा स्वराज प्रवासी भारतीय भवन में यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 के कर्टेन रेजर कार्यक्रम में यह लोगो जारी किया गया। ज्ञात हो,समारोह की अध्यक्षता सीएम योगी आदित्यनाथ ने की। आपको बता दें, यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन आगले वर्ष 10-12 फरवरी उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में होगा। समारोह को संबोधित करते हुए यूपी के मंत्री नंदगोपाल नंदी ने कहा आज का समारोह नए भारत के नए उत्तरप्रदेश का शंखनाद हैं।

आपको बता दें, इस समरोह में औधोगिक विकास मंत्री नंदगोपाल नंदी ने कहा कि 2017 में जिस दिन उत्तर प्रदेश की बागडोर योगी आदित्यनाथ ने संभाली थी उस दिन से हर दिन सुशासन की रोशनी उत्तरप्रदेश में पड़ रही हैं। 2017 से 2022 तक उत्तरप्रदेश उत्तम प्रदेश बना है। अब वह सर्वोत्तम प्रदेश बनेगा। इस मौके पर मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर की बनाने का लक्ष्य रखा है। उसमें हमारे मुख्यमंत्री ने भी 1 ट्रिलियन डॉलर का बड़ा सहयोग देने का प्रण किया है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने प्रदेश में निवेश का माहौल बनाया है। सभी आएं और उत्तरप्रदेश में निवेश करें।

उत्तर प्रदेश ग्रोथ इंजिन की भूमिका निभाएगा

जानकारी हो, इस समारोह में ये भी बताया गया कि भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए उत्तर प्रदेश राज्य को ग्रोथ इंजिन के रूप में अपनी भूमिका का निर्वाहन करना है। इसके लिए राज्य सरकार ने 1 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था के आगामी 5 वर्ष के कार्यक्रम को प्रस्तुत किया है। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार आगामी 10-12 फरवरी 2023 को राजधानी लखनऊ में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन कर रही है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में निवेश के लिए 40 से अधिक देशों से संपर्क किया

आपको बता दें, राज्य में निवेशकों के आमंत्रण के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 40 से अधिक देशों से संपर्क किया है। इनमें नीदरलैंड, डेनमार्क, सिंगापुर, फ्रांस, यूनाइटेड किंगडम और मॉरीशस ने सहभागिता व्यक्त की है। दिल्ली में आयोजित इस समारोह में 43 देशों के राजदूत और 13 देशों के उद्योगिक विकास मंत्री भी शामिल हुए। यूपी से वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, मंत्री जसवंत सिंह सैनी और मंत्री राकेश सचान समेत कई ब्यूरोक्रेटस मौजूद रहे।

Latest news
Related news