तेलंगाना में पीएम ने कहा 20-22 साल से वैराइटी-वैराइटी की गालियां खा चुका हूँ, मेरा शरीर है कि गालियों को पोषण में बदल देता है

इंडिया न्यूज़ (दिल्ली) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को तेलंगाना में कहा कि उन्हें रोजाना 2-3 किलो गाली मिलती हैं, लेकिन उनका शरीर है कि उन गालियों को पोषण में बदल देता है। ज्ञात हो, पीएम ने ये बात BJP कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही।पीएम ने ये भी कहा कि लोग मुझे पूछते हैं कि मोदी जी आप थकते नहीं है क्या, तो मैं उनसे कहता हूं कि भगवान ने मेरे शरीर में कुछ ऐसा मैकेनिज्म बनाया है कि गालियां प्रोसेस होकर न्यूट्रिशन बन जाती हैं।

ज्ञात हो, प्रधानमंत्री हैदराबाद के बेगमपेट एयरपोर्ट पर जनता को संबोधित कर रहे थे जहाँ उन्होंने कहा कि कुछ लोग निराशा और हताशा के कारण, सुबह-शाम मोदी को गालियां देते रहते हैं। पूरी डिक्शनरी उन्होंने मोदी को गाली देने के लिए खपा दी है। मेरी आपसे विनती है कि ऐसी बातों से आप परेशान नहीं होना, क्योंकि उनके पास गालियां देने के सिवाय कुछ बचा ही नहीं है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि मैं तो पिछले 20-22 साल से वैराइटी-वैराइटी की गालियां खा चुका हूं। आप इन गालियों के बारे में चाय पर हंसी-मजाक कीजिए। दूसरे दिन कमल खिलने वाला है, इस खुशी में आगे बढ़िए।

पीएम ने कहा दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बना भारत

आपको बता दें, हैदराबाद से पहले पीएम मोदी ने विशाखापत्तनम में कई विकास परियोजनाओं को लॉन्च किया। इस मौके पर मोदी ने कहा कि भारत दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बन गया है। भारत विकास की हर रोज एक नई कहानी लिख रहा है। जब कई देश संघर्ष कर रहे हैं तब दुनिया की नजरें भारत पर टिकी हुई हैं। कई देश जरूरी सामान की किल्लत से जूझ रहे हैं, कुछ एनर्जी क्राइसिस से जूझ रहे हैं। तकरीबन हर देश अपनी गिरती हुई अर्थव्यवस्था को लेकर परेशान है। आंध्र यूनिवर्सिटी इंजीनियरिंग कॉलेज में एक पब्लिक मीटिंग को संबोधित करते समय पीएम ने कहा कि भारत कई सेक्टर्स में नई ऊंचाईयों को छू रहा है, वह भी ऐसे समय में जब दुनिया के हालात अच्छे नहीं हैं। यह सिर्फ इसलिए हो पाया है क्योंकि भारत अपने नागरिकों की उम्मीदों और जरूरतों को ऊपर रखकर काम कर रहा है। हमारी हर नीति, हर फैसले का मकसद लोगों की जिंदगी आसान बनाना है।

अमृत काल में विकास के रास्ते पर तेजी से अग्रसर है भारत

 

पीएम मोदी ने कहा कि अमृत काल के दौरान भारत विकास के रास्ते पर तेज बढ़ रहा है और जल्द ही विकसित देश बनने वाला है। विकास की इस यात्रा के कई आयाम हैं। इसमें आम लोगों की जरूरतें और बेहतर और मॉडर्न इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण जुडी हुई हैं। पीएम ने कहा कि हमने देखा है कि कैसे इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट पर अलग-थलग सोच के चलते देश को कितना नुकसान झेलना पड़ा है इसलिए हमारी सरकार एक नई अप्रोच के साथ चल रही है।

PM गति शक्ति मास्टर प्लान की मोदी ने की तारीफ

पीएम मोदी ने बताया कि पीएम गति शक्ति मास्टर प्लान की वजह से इंटीग्रेटेड नजरिए वाला इंफ्रास्ट्रक्चर विकास संभव हो पाया है। इसकी वजह से न सिर्फ विकास कार्य तेज हुए हैं, बल्कि इन प्रोजेक्ट्स की लागत भी कम हुई है। पीएम ने कहा कि हम कभी इसके पहले ऐसे सवालों में नहीं पड़े कि क्या हमें रेलवे स्टेशन, रोड, पोर्ट या हाईवे बनाना चाहिए या नहीं। हमने कभी कुछ नहीं छुपाया क्योंकि सप्लाई चेन और लॉजिस्टिक मल्टी-मोडल कनेक्टिविटी पर आधारित रहती हैं।

पीएम का बयान विकास के लिए अंधविश्वास से निकलना जरूरी

पीएम ने कहा तेलंगाना शहर सूचना और प्रौद्योगिकी का किला है, जब मैं यह देखता हूं कि आधुनिक शहर में अंध विश्वास को बढ़ावा दिया जा रहा है तो बहुत दुख होता है। ऐसा लगता है कि यहां कि सरकार ने अंध विश्वास को राज्य में आश्रय दिया हुआ है। मोदी ने कहा तेलंगाना में अंध विश्वास के नाम पर क्या-क्या हो रहा है यह देश के लोगों को जानना चाहिए। अगर तेलंगाना का विकास करना है, उसे पिछड़ेपन से निकालना है, तो उसे सबसे पहले यहां के हर तरह के अंध विश्वास को दूर करना होगा।

Latest news
Related news