Delhi: दिल्ली की विधानसभा में हंगामे के बाद कार्यवाही कल तक के लिए टली, विशेष सत्र में मंगलवार को होगी चर्चा।

दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान विधानसभा में बहुत हंगामा हुआ, हंगामे को देखते हुए सदन की कार्यवाही कल तक के लिए रोक दी गई। वहीं विश्वास मत पर भी मंगलवार को चर्चा होगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज सोमवार को विधानसभा के विशेष सत्र में विश्‍वास मत का प्रस्‍ताव दिया था। इस दौरान सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर जमकर तंज कसे।

विधानसभा में क्या कहा सीएम केजरीवाल ने?

दिल्ली विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा कि लोगों ने पूछा कि विश्वास प्रस्ताव की क्या जरूरत है। मैंने कहा विश्वास प्रस्ताव से हम दिखाना चाहते हैं कि आम आदमी पार्टी का एक-एक विधायक और कार्यकर्ता कट्टर ईमानदार हैं। मध्य प्रदेश, गोवा, महाराष्ट्र, कर्नाटक में ऑपरेशन लोटस सफल रहा लेकिन दिल्ली में आकर वह टायं-टायं फिस हो गया। बीजेपी ने हमारे विधायक खरीदने की पूरी कोशिश की विश्वास प्रस्ताव से हम साबित करेंगे कि एक भी विधायक नहीं बिका।

भारतीय जनता पार्टी को सदन से बाहर किया गया।

विश्वास प्रस्ताव पेश होने से पहले भारतीय जनता पार्टी के विधायकों को सोमवार को सदन से बाहर कर दिया गया बीजेपी के विधायक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव लाने और सरकारी स्कूलों में कक्षाओं के निर्माण पर केंद्रीय सतर्कता आयोग की रिपोर्ट, आबकारी नीति सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की मांग कर रहे थे।  विधानसभा की उपाध्यक्ष राखी बिरला द्वारा ध्यानाकर्षण प्रस्ताव की मांग खारिज किए जाने के बाद बीजेपी विधायक सदन में आसन के सामने आ गए। बिरला ने इसके बाद उन्हें पूरे दिन के लिए सदन से बाहर जाने को कहा और बाद में उन्हें मार्शल की मदद से बाहर निकाला गया  बिरला ने विधानसभा में कहा विधानसभा सत्र गंभीर मुद्दों पर चर्चा के लिए बुलाया गया है विपक्षी दल के सदस्यों ने सदन का सम्मान नहीं किया और ऐसे में उन्हें मार्शल की मदद से बाहर निकलवाना पड़ा।

ये भी पढ़े- Photoshoot Controversy: मुंबई पुलिस ने करी रणवीर सिंह से दो घंटे पूछताछ, जाने किन सवालों से हुआ सामना।

Latest news
Related news